चीन दौरे पर PM को राहुल ने डोकलाम और CPEC की याद दिलाई

0
103

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चीन दौरे के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि देश मोदी को डोकलाम और चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर (सीपीईसी) जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर सुनना चाहता है। राहुल ने ट्वीट कर कहा, ”प्रिय प्रधानमंत्री, मैंने आपकी ‘बिना एजेंडा वाली’ चीन यात्रा की लाइव टीवी फीड देखी। आप तनाव में लग रहे थे।” उन्होंने कहा, ”आपको मैं कुछ याद दिलाता हूं। पहला मुद्दा डोकलाम का है और दूसरा सीईपीसी का है। सीपीईसी पीओके से गुजर रहा है जो भारत का हिस्सा है।” कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ”भारत आपको इन महत्वपूर्ण मुद्दों पर सुनना चाहता है। हमारा समर्थन आपके साथ है।” इससे पहले कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण अपने हालिया चीन दौरे पर डोकलाम में चीनी अतिक्रमण के मुद्दे पर वहां की सरकार से विरोध दर्ज कराने में विफल रहीं। उन्होंने सवाल किया कि क्या प्रधानमंत्री अपने मंत्रियों की इस ‘विफलता’ को स्वीकार करेंगे और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग से डोकलाम के मुद्दे पर दो टूक बातें करेंगे?
डोकलाम विवाद के बाद मोदी-जिनपिंग की पहली मुलाकात
सिक्किम सेक्टर में डोकलाम विवाद के बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनपिंग की एक दूसरे से मुला​कात हुई। चीनी शहर वुहान के हूबेई प्रोविंशियल म्यूजियम में राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत किया, दोनों नेताओं ने गर्मजोशी से एक-दूसरे से हाथ मिलाया। भारतीय प्रधानमंत्री के स्वागत में हूबेई प्रोविंशियल म्यूजियम में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जहां दोनों नेता कार्यक्रम का लुत्फ उठाते दिखे। इसके बाद दोनों के बीच बैठक शुरू हुई। इस बैठक में दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्षों के अतिरिक्त प्रतिनिधि भी शामिल रहे। भारत की तरफ से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल भी इस बैठक के दौरान मौजूद रहे। गौरतलब है कि भारत और चीन दोनों ने अपने शीर्ष नेताओं की इस मुलाकात को अनौपचारिक भेंट बताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here