नैशनल फिल्म अवॉर्ड्स विजेताओं में नाराजगी, राष्ट्रपति 11 को ही दे पाएंगे अवॉर्ड

0
204

आज शाम दिल्ली के विज्ञान भवन में होनेवाले नैशनल फिल्म अवॉर्ड्स की रौनक के लिए तैयारियां जोर-शोर से चल रही थीं। इस समारोह में शामिल होने के लिए सभी नैशनल फिल्म अवॉर्ड विनर्स बुधवार दोपहर से ही दिल्ली में जमा होने लगे। इन्हें तब जोरदार धक्का लगा, जब पता चला कि राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द उन सभी विनर्स में से केवल 11 को ही अपने हाथों से अवॉर्ड प्रदान कर सकेंगे।कार्यक्रम सूची देखने के बाद उन्हें पता चला कि बाकी के अवॉर्ड्स उन्हें केन्द्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी, राज्यवर्धन सिंह राठौड़, सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सचिव नरेन्द्र कुमार सिन्हा प्रदान करेंगे। कार्यक्रम की इस लिस्ट में यह भी बताया गया है कि कोविन्द शाम 5:30 बजे वेन्यू पर पहुंचेंगे, जिससे पहले देपहर 3:30 बजे से लेकर शाम 5:30 बजे तक ईरानी और राठौड़ अधिकतर अवॉर्ड प्रदान करेंगे। इसमें आगे यह भी बताया गया है कि सेरिमनी के बाद वहां मौजूद सभी विनर्स हर बार की तरह राष्ट्रपति के साथ फोटोशूट करवाएंगे।एक सूत्र से मिली जानकारी के मुताबिक, इस बात से कई विनर्स काफी खिन्न थे और सेरिमनी के बॉयकॉट के मूड में थे, जिसके बाद इस अवॉर्ड्स सेरिमनी के डायरेक्टर (ऑर्गनाइजर डायरेक्टरेट ऑफ फिल्म फेस्टिवल्स) ने उन्हें अपनी शिकायत सीधे ईरानी के सामने रखने को कहा। जैसा कि 1954 से यह प्रथा चली आ रही है कि विनर्स को राष्ट्रपति ही सम्मानित करते हैं और अब 64 साल के बाद इस ट्रडिशन के टूटने से विनर्स खासे नाराज हैं। सूत्र ने कहा, ‘शेड्यूल में आखिरी वक्त में आया यह बदलाव एक तरह से अपमान था, जिसका सभी विनर्स ने विरोध किया। हर कोई इस बात से अपसेट है और सबका मूड काफी खिन्न हो चुका है।’
राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार: न्यूटन को मिला बेस्ट हिंदी फिल्म का पुरस्कार, मॉम के लिए श्रीदेवी को बेस्ट ऐक्ट्रेस का अवॉर्ड
सूत्र ने बताया कि जब अवॉर्ड विनर्स ईरानी से मिले तो उनका कहना था कि राष्ट्रपति के पास सेरिमनी के लिए केवल एक ही घंटे का वक्त था और इसलिए विनर्स को सम्मानित करने के लिए ऑर्गनाइजर्स को अन्य मंत्रियों को बुलाना पड़ा। सूत्र के मुताबिक, ‘अवॉर्ड विनर्स ने ईरानी से कहा कि स्पीच और फोटोशूट के लिए जो टाइम दिया गया है, उसे कम किया जा सकता है ताकि सभी विनर्स के राष्ट्रपति के हाथों पुरस्कार प्रदान किया जा सके।’
‘उम्मीद थी अमिताभ बच्चन को बेस्ट ऐक्टर का नैशनल अवार्ड मिलेगा’
एक दूसरा विकल्प यह भी था कि सभी विनर्स को स्मृति ईरानी ही अवॉर्ड प्रदान करें। सूत्र ने कहा कि सभी विनर्स और अवॉर्ड को लेकर इस भेदभाव के खिलाफ थे और यह स्वीकार नहीं कर पा रहे थे और इसलिए लगातार बॉयकॉट की धमकी दे रहे थे।जब मिरर ने सूचना और प्रसारण मंत्रालय से इस बारे में सम्पर्क करने की कोशिश की तो एक अधिकारी ने कन्फर्म किया कि ईरानी ही ज्यादातर अवॉर्ड प्रदान करेंगी और बताया कि राष्ट्रपति के पास इस सेरिमनी में शामिल होने के लिए एक ही घंटे का वक्त है। अधिकारी ने कहा, ‘अलग-अलग कैटिगरी में 75 से ज्यादा अवॉर्ड प्रदान करना और फिर हर विनर के साथ फोटोशूट कराने में काफी वक्त लग जाता है।’ राष्ट्रपति भवन के सूत्र ने बताया, ‘राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री का काफी व्यस्त शेड्यूल है।’राष्ट्रपति कोविन्द की ओर से केवल 11 अवॉर्ड प्रदान किए जाने की खबरों के बाद नैशनल अवॉर्ड विनर मराठी फिल्म डायरेक्टर प्रकाश ओक ने कहा, ‘हम अपमानित महसूस कर रहे हैं, 75 पुरस्कार विजातओं ने आज अवॉर्ड सेरिमनी के बॉयकॉट की धमकी दी है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.