विश्व की पहली महिला विशेष ट्रेन ने पूरा किया 26 वर्ष का सफर

0
138

मुंबई
मुंबई में चर्चगेट और बोरिवली स्टेशनों के बीच शुरू हुई विश्व की पहली ‘महिला विशेष’ ट्रेन ने शनिवार को 26 वर्ष का सफर पूरा कर लिया । पश्चिम रेलवे ने पांच मई 1992 को इस उपनगरीय ट्रेन की शुरुआत की थी। इन दो स्टेशनों के बीच चलने वाली यह ट्रेन केवल महिला सवारियां ले जाती थी। शुरुआत में इसकी प्रतिदिन केवल दो सेवाएं थी जो अब बढ़कर प्रतिदिन आठ हो गई है, चार सुबह और चार शाम।पश्चिम रेलवे के मुख्य प्रवक्ता रविंद्र भाकर ने कहा, ‘महिला यात्रियों के लिए पूरी ट्रेन समर्पित करने का यह कदम इतिहास के पन्नों में दर्ज है और पश्चिम रेलवे ने दूसरे रेल मंडलों के लिए इस मामले में एक नजीर पेश की है।’ उन्होंने कहा, ‘कई वर्षों तक एक पूरी ट्रेन महिला यात्रियों के लिए चलाना एक मील के पत्थर से कम नहीं है और इसने यकीनन करीब 10 लाख से अधिक मुंबई की महिलाओं को उनके घर से कार्यस्थल तक सुरक्षित जाने में मदद की।’पश्चिम रेलवे की ओर से जारी बयान के अनुसार पहली महिला विशेष ट्रेन की शुरुआत चर्चगेट से बोरिवली के बीच की गई थी जिसे बाद में वर्ष 1993 में विरार तक बढ़ा दिया गया था। तब से , ट्रेन रोजाना लाखों महिलओं को उनके गंतव्य तक पहुंचने में मदद कर रही है , जो विश्व में किसी भी उपनगरीय परिवहन प्रणाली के लिए एक मील का पत्थर है। रेलवे का कहना है कि सबसे व्यस्त उपनगरीय लाइनों में से एक पर 26 वर्षों तक सफलतापूर्वक चलना सभी महिला यात्रियों द्वारा वरदान माना जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here