श्रीनगर के छत्ताबल में सुरक्षा बलों को बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ में 3 आंतकी ढेर

0
279

श्रीनगर
जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर के छत्ताबल में आतंकवादियों के खिलाफ सुरक्षा बलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। सुरक्षा बलों ने छत्ताबल में हुई मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों को मार गिराया है। मृतक आतंकियों के पास से 3 एके राइफल और भारी मात्रा में गोला बारूद बरामद हुआ है। मुठभेड़ स्थल के पास सुरक्षाकर्मियों से झड़प के दौरान कथित रूप से एक स्थानीय नागरिक की भी मौत हो गई।पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि मारे गए आतंकियों की पहचान अभी नहीं हो पाई है। एनकाउंटर के दौरान सीआरपीएफ के दो अधिकारियों को भी गोली लगी है और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने बताया कि छत्ताबल और उसके निकटवर्ती इलाके में आतंकवाद विरोधी अभियान में जुटे सुरक्षा बलों पर पथराव किया गया, जिससे वहां झड़प हो गई। झड़प में कई लोग घायल हुए हैं और उनमें से एक की अस्पताल में मौत हो गई।पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘आदिल अहमद यादू को एसएमएचएस अस्पताल लाया गया था, जिसे डॉक्टरों ने मृत लाया घोषित कर दिया। मेडिकल बुलेटिन के अनुसार व्यक्ति की मौत नूरबाग में सड़क दुर्घटना में लगी चोट के कारण हुई है। लोगों को अफवाहों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।’
मोबाइल-इंटरनेट सेवाएं सस्पेंड
बहरहाल, स्थानीय निवासियों के अनुसार यादू की मौत सुरक्षा बलों द्वारा कथित तौर पर गोली मारे जाने से हुई। सफाकदल के तबेला छत्ताबल में आतंकवादियों की मौजूदगी की जानकारी मिलने के बाद वहां घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किया था।अधिकारी ने बताया कि वहां छिपे आतंकवादियों के सुरक्षा बलों पर गोलियां चलाने से मुठभेड़ शुरू हो गई, सुरक्षा कर्मियों ने भी जवाबी कार्रवाई की। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ के बाद से ही श्रीनगर में मोबाइल-इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं।
हाजिन में 2 युवकों के शव मिले
इससे पहले शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर में हाजिन के शाहगुंड गांव में दो युवकों के शव मिले थे। दोनों को ही गुलशन मोहल्ला के उनके घरों से अगवा किया गया था।बता दें कि वर्षों से आतंक का दंश झेल रही कश्मीर घाटी में एक बार फिर बड़ी संख्या में युवाओं के आतंकी संगठनों में शामिल होने की खबरें हैं। सुरक्षा एजेंसियों को साल 2018 में घाटी के करीब 45 युवाओं के आतंकी संगठनों में शामिल होने की खबर मिली है। जम्मू कश्मीर में सुरक्षा एजेंसियों से जुड़े शीर्ष अधिकारियों के अनुसार साल 2018 में दक्षिण कश्मीर के कई जिलों के युवा आतंकी संगठनों में शामिल हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.