विशेष राज्य के दर्जे को लेकर बिहार में एनडीए नेताओं के बदल रहे सुर-ताल,

0
68

बिहार को विशेष राज्य के दर्जे की मांग लेकर राजनीति चरम पर है, एक ओर जदयू के नेता इस मांग को लेकर अपनी बात मजबूती से रख रही है तो वहीं भाजपा नेता के सुर अलग हैं।
पटना । बिहार में विशेष राज्य के दर्जे को लेकर बयानबाजी तेज हो गई है और सबसे बड़ी बात है कि एनडीए के नेताओं में इसे लेकर एकमत नहीं नजर आ रही है। बीजेपी और जेडीयू, दोनों दलों के नेता इस मामले को लेकर एक-दूसरे पर कटाक्ष कर रहे हैं तो वहीं राजद इस कटाक्ष पर जदयू पर तंज कस रहा है।विशेष राज्य के दर्जे के लिए यह खींचतान शुरू हुई है जेडीयू के राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह और एमएलसी गुलाम रसूल बलियावी के बयानों से। रविवार को पार्टी के पटना के नगर निकाय प्रकोष्ठ की पहली वर्षगांठ पर आयोजित कार्यक्रम के मौके पर जेडीयू नेताओं ने अपनी जमकर भड़ास निकाली।
जदयू नेताओं की बयानबाजी
आरसीपी सिंह ने तो एक बार फिर कह दिया है कि बिहार अपने हक के लिए भीख नहीं मांगता। बिहार का हक उसका अधिकार है तो वहीं जेडीयू एमएलसी गुलाम रसूल बलियावी आरसीपी सिंह से एक कदम आगे बढ़ कर यह कह कर सबको चौंका दिया कि अगर बिहार की जनता धर्म, जाति और मजहब भूलकर नीतीश कुमार की पीठ पर अपना हाथ रख दे तो देश के राजनीति की चाबी किसी दूसरे राज्य की बजाय बिहार के हाथों में आ जाएगी।
जदयू नेता का बड़ा बयान- छोड़ सकते हैं बिहार के विशेष राज्य के दर्जे की मांग
भाजपा ने दिया जवाब
बलियावी के बयान पर पटलवार करते हुए बीजेपी प्रवक्ता अजफ़र शम्सी ने कहा कि किसी को परेशान होने की जरूरत नहीं है। देश की बागडोर बिल्कुल सही व्यकित के हाथों में है। आजादी के बाद जो विकास कांग्रेस देश मे नहीं कर सकी, उसे पीएम नरेंद्र मोदी करके दिखा रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि जदयू नेता की बातों को नोटिस लेने की जरूरत नहीं है।बीजेपी और जेडीयू के बीच तल्ख को देखकर भली आरजेडी कहां चुप रहने वाली थी। राजद नेता संजय प्रसाद ने कहा कि विशेष राज्य के दर्जे के लिए राष्ट्रीय स्तर पर आंदोलन करने की जरूरत है। उन्होंने नसीहत देते हुए कहा कि नीतीश बीजेपी का साथ छोड़ आंदोलन करें, राजद पूरा सहयोग करेगा। जदयू-राजद मिलकर करें विशेष राज्य के दर्जे की मांग। दिल्ली में एक साथ मिलकर चक्का जाम करें।
दो मई को PM मोदी से मिलेंगे CM नीतीश, जानिए मुलाकात क्यों होगी खास…
राजद नेता मनोज झा ने कहा कि बिहार की उपेक्षा की जा रही है, विशेष दर्जा हमारा हक है और हम लेकर रहेंगे। उन्होंने कहा कि अटल जी सरकार थी तो राबड़ी देवी ने पहली बार केंद्र से बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग की थी, लेकिन उस वक्त नीतीश कुमार जी ने मना कर दिया था, लेकिन आज खुद जदयू नेता इसके लिए सुर आलाप रहे हैं।
भाजपा ने कहा-बिहार विकास पथ पर चल रहा
इसपर भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि बिहार से पीएम मोदी को मुहब्बत है, वो बिहार का विशेष ध्यान रखते हैं। बिहार विकास की सीढ़ियां चढ़ रहा है, जो भी योजना होती है उसे केंद्र सरकार तुरंत मान लेती है। अभी राज्य और केंद्र में एक ही गठबंधन की सरकार है, एेसे में बिहार का विकास नहीं रूकेगा।
वहीं, राजद विधायक राहुल तिवारी ने कहा कि नीतीश कुमार के पास देश की सियासत की चाबी लेने का मौका था। नीतीश कुमार ने वो मौका खो दिया है और अब बीजेपी नीतीश कुमार को तरजीह नहीं दे रही है, इसलिए जदयू नेताओं के सुर बदल गए हैं, लेकिन जनता अब नीतीश कुमार को माफ नहीं करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here