मोतिहारी में रियल बॉन्ड प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के कर्मियों के यहां CBI का छापा

0
69

केसरिया : बिहार के मोतिहारी में सीबीआई, रांची की टीम ने मंगलवार को केसरिया थाना क्षेत्र के फुलतकीया गांव में छापेमारी की. इस दौरान सीबीआई की टीम द्वारा विभिन्न बैंकों के पांच पासबुक, आधार कार्ड, जमीन के दास्तवेज समेत कई अन्य आवश्यक कागजात जब्त की गयी. मामला रियल बॉन्ड मार्केटिंग लिमिटेड कंपनी (चिट फंड) बना निवेशकों से करीब 11 सौ करोड़ रुपये गबन करने का है. जिस मामले में सीबीआई रांची के अपराध इकाई की टीम ने फुलतकिया निवासी सह उक्त चिट फंड कंपनी से जुड़े विजय कुमार गुप्ता, गुड्डु साह व मंजय कुमार उर्फ विपुल के घर छापेमारी की. करीब चार घंटे तक चली इस छापेमारी से क्षेत्र में हड़कंप की स्थिति बनी रही. हालांकि, इस दौरान किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई. सीबीआई टीम द्वारा जब्त की गयी कागजातों की सूची परिजनों को सौंप दी गयी.
वर्ष 2013 में दर्ज हुआ था मामला
छापेमारी टीम में शामिल एक अधिकारी ने बताया कि रंजन मंडल के आवेदन पर झारखंड के कोटरोड जामतारा के थाने में वर्ष 2013 में गबन की प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. इस मामले में उपरोक्त तीनों व्यक्तियों को दिसंबर 2017 में नोटिस दी गयी थीं. जिन्हें 28 दिसंबर 17 को सीबीआई के आर्थिक अपराध शाखा रांची में उपस्थित हो कर अपना पक्ष रखने को कहा गया था. निर्धारित तिथि को इन तीनों के द्वारा संबंधित कार्यालय में अपना पक्ष नहीं रखा गया. जिसके बाद ये कार्रवाई की गयी है. बता दे कि रियल बॉन्ड मार्केटिंग लिमिटेड कंपनी को दिल्ली में केसरिया निवासी एसपी गुप्ता व उनके पुत्र मिल कर चलाते थे. जिसमें फुलतकीया निवासी विजय गुप्ता व गुडू साह एवं मंजय कुमार अभिकर्ता के रूप में काम करते थे.
चार घंटे तक चलती रही छापेमारी
सीबीआई की टीम मंगलवार को करीब नौ बजे स्थानीय थाने पहुंच इस मामले से अवगत करायी. इसके बाद स्थानीय पुलिस के साथ फुलतकीया के लिए रवाना हो हुई. गांव पहुंच कर टीम ने आरोपियों के घर को चारों तरफ से घेर लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here