धौनी के सामने बटलर ने की ‘विराट’ रिकॉर्ड की बराबरी, विदेशी खिलाड़ियों में निकले सबसे आगे

0
122

जोस बटलर के सामने धौनी की कोई भी चाल कामयाब नहीं हो सकी और इस पारी के दौरान उन्होंने एक ऐसा रिकॉर्ड भी बना दिया जो IPL में आजतक कोई भी विदेशी खिलाड़ी नहीं कर सकी था।
नई दिल्ली, । आइपीएल के 43वें मुकाबले में महेंद्र सिंह धौनी की टीम चेन्नई को 4 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। चेन्नई के खिलाफ राजस्थान ने रॉयल जीत दर्ज की तो जीत का सेहरा जोस बटलर के सिर बंधा। बटलर ने 60 गेंदों पर नाबाद 95 रन की पारी खेलकर चेन्नई के मुंह से जीत छीन ली। राजस्थान के विकेटकीपर बल्लेबाज़ जोस बटलर के सामने धौनी की कोई भी चाल कामयाब नहीं हो सकी और इस पारी के दौरान उन्होंने एक ऐसा रिकॉर्ड भी बना दिया जो IPL में आजतक कोई भी विदेशी खिलाड़ी नहीं कर सकी था।राजस्थान रॉयल्स के विकेटकीपर-बल्लेबाज़ जोस बटलर चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ टूर्नामेंट के इतिहास में लगातार 4 बार 50+ का स्कोर बनाने वाले पहले विदेशी खिलाड़ी बन गए। उन्होंने पहले दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 67 रन, किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 51 रन, पंजाब के खिलाफ 82 रन और अब चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के खिलाफ नाबाद 95 रन की पारी खेली। इससे पहले सिर्फ दो ही बल्लेबाज़ ऐसा करने में कामयाब हुए थे। बटलर से पहले ये कमाल किंग्स XI पंजाब के पूर्व बल्लेबाज़ वीरेंद्र सहवाग और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली कर चुके हैं। सहवाग ने आइपीएल में लगातार पांच अर्धशतक जड़े थे, तो विराट कोहली ने लगातार चार हॉफ सेंचुरी जड़ी थी।अब बटलर ने कोहली की बराबरी तो कर ली है। अब ये देखना दिलचस्प होगी कि क्या अगले मैच में वो कोहली के रिकॉर्ड को तोड़ कर सहवाग की बराबरी कर पाएंगे।चेन्नई के खिलाफ खेली गई बटलर की ये पारी खास रही, क्योंकि इस पारी के दौरान उन्होंने आइपीएल का अपना सर्वाधिक स्कोर तो बनाया ही इसके साथ ही साथ वो नॉट आउट वापस भी लौटे। बटलर ने राजस्थान की पारी की पहली गेंद भी खेली और विनिंग शॉट भी उन्हीं के बल्ले से ही निकला। बटलर ने पहले सिर्फ 26 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने इस पारी में 60 गेंदों का सामना किया यानि की राजस्थान की पारी के आधे ओवर अकेले बटलर ने खेले। इस पारी के दौरान उनके बल्ले से 11 चौके और 2 छक्के भी निकले।आखिरी ओवर में राजस्थान को जीत के लिए 12 रन की जरूरत थी। ब्रावो गेंदबाजी के लिए आए तो बटलर गेंद को सीमा रेखा के पार भेजने की कोशिश में शॉट को ठीक से नहीं खेल सके और गेंद हवा में उछल गई, लेकिन कोई भी क्षेत्ररक्षक कैच लपकने के लिए नहीं दौड़ा। इसके बाद बटलर ने एक छक्का जड़ा और फिर दो रन लेकर राजस्थान की जीत पक्की कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here