उत्तर से दक्षिण तक अंधड़ तूफान, देशभर में 40 से अधिक लोगों की मौत, कई घायल

0
90

नई दिल्ली
देश भर में रविवार शाम आए अंधड़ और तूफान ने 40 से ज्यादा लोगों की जान ले ली। इसी के साथ कई जगहों पर आकाशीय बिजली गिरने की भी खबरें आईं। उत्तर प्रदेश के संभल में स्थित राजपुरा में ऐसी ही आकाशीय बिजली गिरने के बाद आग लग गई। आग इतनी भयानक थी कि सैकड़ों घर इस आग में तबाह हो गए। मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आग बुझाने के लिए दमकल की तीन गाड़ियों को लगाया गया है।दिल्ली-एनसीआर में तूफान के कहर का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि यहां अंधड़ की गति 109 किमी प्रति घंटा थी। इससे फ्लाइट, रेल और मेट्रो का संचालन तो बुरी तरह प्रभावित हुआ ही बल्कि सैकड़ों पेड़ भी जड़ से उखड़ गए। एनसीआर में आंधी के चलते हुए हादसों में 4 लोगों की मौत हो गई, जबकि 26 घायल हो गए। मौसम विभाग के अधिकारियों के मुताबिक सफदरजंग में हवा की स्पीड 109 किमी प्रति घंटा थी, जबकि पालम में यह गति 96 किमी प्रति घंटा रही। दिल्ली में 2 घंटे के भीतर 255 पेड़ गिर गए।मौसम में आए अचानक बदलाव और अंधड़ तूफान की वजह से उत्तर से दक्षिण भारत तक भारी नुकसान की खबर है। अबतक 40 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अबतक यूपी में 21, बंगाल में 12 और दिल्ली में 2 लोगों की मौत हुई है। आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में आकाशीय बिजली की चपेट में आकर 9 लोगों की मौत हुई है। दिल्ली-एनसीआर में धूल भरी आंधी और बारिश की वजह से करीब 70 उड़ानों के मार्ग बदलने पड़े हैं। फ्लाइट्स की आपातकालीन लैंडिंग भी करानी पड़ी है।पीएम नरेंद्र मोदी ने आंधी-तूफान के कारण हुई मौतों पर दुख जताया है। पीएम ने ट्वीट कर कहा कि देश के कई हिस्सों में आंधी-तूफान के कारण हुई मौतों पर दुखी हूं।उत्तर प्रदेश के तमाम हिस्सों में आंधी और बारिश से 28 अन्य घायल भी हुए हैं। प्रमुख सचिव (सूचना) अवनीश अवस्थी ने बताया कि कासगंज में चार लोगों के, बुलंदशहर में दो, कन्नौज, अलीगढ़, संभल, गाजियाबाद और नोएडा में एक-एक व्यक्ति के मारे जाने की खबर है। उन्होंने बताया कि संभल में 13 लोग घायल हुए जबकि औरैया में 12 और बुलंदशहर में तीन लोग घायल हुए हैं।यूपी के संभल में ट्रैक्टर पर पेड़ गिर जाने की वजह से एक शख्स की मौत हो गई है। गाजियाबाद के लाल कुआं के पास भी इको कार पर एक पेड़ गिर जाने से एक शख्स की मौत हो गई। इस दुर्घटना में चार से पांच लोग घायल भी हुए हैं। यूपी के रामपुर में आंधी-तूफान के खतरे को देखते हुए सोमवार को स्कूल बंद करने का आदेश दे दिया गया है। बिजली गिरने की वजह से बुलंदशहर के गांव में झोपड़ियों में आग भी लग गई।एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक आंधी तूफान की वजह से दिल्ली जाने वाली 9 फ्लाइट को लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर आपातकालीन लैंडिंग करानी पड़ी है। एयर ट्रैफिक कंट्रोल ने खराब मौसम की वजह से इन फ्लाइट को दिल्ली में लैंड करने की अनुमति नहीं दी, इसलिए यह कदम उठाना पड़ा।उधर, तेलंगाना व आंध्र प्रदेश में रविवार को आकाशीय बिजली की चपेट में आने से तीन किसानों सहित नौ लोगों की मौत हो गई। तेलंगाना के मंचेरिअल जिले में रविवार की सुबह आकाशीय बिजली के चपेट में आने से तीन किसानों की मौत हो गई जबकि आंध्र प्रदेश के उत्तर तटवर्ती श्रीकाकुलम जिले में छह लोगों की मौत हो गई। तेलंगाना के मंचेरिअल जिले की घटना अरेपल्ली गांव में इन किसानों के खेत में हुई। पुलिस के अनुसार, किसान बारिश से अपनी धान की फसल को बचाने के लिए खेत गए थे।आंधी तूफान के दौरान पूरी दिल्ली से पुलिस कंट्रोल रूम में कुल 260 कॉल्स आईं। जानकारी के मुताबिक तेज हवा की चपेट में आकर 189 पेड़ गिरे, 40 जगहों पर खंभे और 31 जगहों पर दीवारें गिर गईं हैं। पांडव नगर में एक पेड़ की चपेट में आकर महिला की मौत हो गई है। इसके अलावा अलग-अलग जगहों पर 19 लोगों को मामूली चोटें भी आईं हैं।धूल भरी आंधी और बारिश के कारण रविवार शाम इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे (आईजीआईए) से 70 उड़ानों के मार्ग बदलने पड़े हैं। अधिकारियों ने संचालन में बाधा के लिए खराब दृश्यता व तेज हवाओं का हवाला दिया है। धूल भरी आंधी के साथ 70 किमी प्रति घंटा की रफ्तार वाली हवा ने राजधानी व आसपास के इलाकों में सड़क यातायात और मेट्रो सेवा को प्रभावित किया।कोलकाता के आसमान में 12 किमी मोटी बादलों की परत
रविवार दोपहर बाद अचानक कोलकाता के आसमान में बादलों की एक मोटी परत छा गई। 12 किमी ऊंचा और 30 किमी चौड़ा बादलों का यह झुंड नदिया, हुगली और नॉर्थ 24 परगना के आसमान में बना और सिटी की तरफ बढ़ा। क्षेत्र में 52 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here