जिन्ना की तस्वीर को लेकर चल रहे प्रदर्शन में शामिल नहीं हुए तो छात्रसंघ ने AMU के दो छात्रों को पीटा!

0
94

अलीगढ़
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के दो छात्रों ने आरोप लगाया है कि यूनिवर्सिटी के दो छात्रों ने उनकी पिटाई की। पूर्व छात्र उनसे इसलिए नाराज थे क्योंकि उन्होंने जिन्ना की तस्वीर को लेकर चल रहे प्रदर्शन में शामिल होने और फंड देने से इनकार कर दिया। छात्रों का इलाज अस्पताल में चल रहा है।
पुलिस ने बताया कि सोमवार को दो छात्रों कमरुल हसन और उसके भाई अजीम को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। छात्रों ने अपने बयान में कहा है कि एएमयू के एक ग्रुप ने उनसे प्रॉटेस्ट के लिए रुपये मांगे थे। उन लोगों ने रुपये देने से मना कर दिया तो सोमवार रात लगभग 2 बजे छात्रों का एक ग्रुप आरएम हॉस्टल में पहुंचा और उनकी पिटाई की। घायल छात्रों ने यह भी आरोप लगाया कि उन्हें पीटने वाले छात्र हाथों में देसी तमंचे और चाकू लेकर आए थे।पीड़ित छात्रों ने बताया कि वह यूनिवर्सिटी में पढ़ने आए हैं। वह किसी प्रॉटेस्ट में शामिल नहीं होना चाहते हैं। उनपर जबरन पढ़ाई छोड़कर प्रॉटेस्ट में शामिल होने का दबाव बनाया जा रहा है। उन्हें चिंता है कि छात्र उन पर फिर से जानलेवा हमला कर सकते हैं इसलिए उन्होंने पुलिस से सुरक्षा मांगी है।एसएसपी अलीगढ़ अजय कुमार साहनी ने बताया कि पीड़ित छात्रों ने एएमयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष मंसूर अहमद उस्मानी के नजदीकी जीशान आजम के खिलाफ तहरीर भी दी है। उन्होंने कहा कि जीशान ने उन लोगों पर प्रॉटेस्ट में शामिल होने का दबाव भी बनाया था। एसएसपी ने बताया कि छात्रों की तहरीर के आधार पर पुलिस ने मंसूर अहमद पर आपराधिक षणयंत्र की धारा में मामला दर्ज किया है। वहीं छात्रों को पीटने वालों पर हत्या का प्रयास सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।वहीं मंसूर अहमद ने उस पर लगाए गए आरोप निराधार बताए हैं। उन्होंने कहा कि उनका इस घटना से कोई लेना-देना नहीं है। उन्हें घटना की जानकारी है लेकिन इसमें शामिल लोगों के बारे में कुछ नहीं पता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here