बनारस हादसे से सतर्क हुई नीतीश सरकार, पथ निर्माण विभाग को दिया दिशा निर्देश

0
113

पटना । बनारस वाली घटना के बाद से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सतर्कता बरतते हुए पथ निर्माण विभाग को कड़े निर्देश जारी किए है कि बिहार में बनारस वाली जैसी घटना नहीं होनी चाहिए। इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश ने पथ निर्माण विभाग को कड़े निर्देश जारी कर दिए है। तथा कहा है कि विभाग हर पुल-पुलिया का सही निगरानी करें ताकि कोई घटना न हो सके।बनारस में रेलवे ओवर ब्रिज का बीम गिरने की घटना से बिहार सरकार सावधान हो गई है। इससे सबक लेते हुए सरकार ने पथ निर्माण विभाग को आवश्यक निर्देश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य पथ निर्माण विभाग को बिहार के महत्वपूर्ण पुलों की मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया है।
बिहार सरकार का बड़ा फैसला: कांट्रैक्‍ट बहाली में भी लागू होगा आरक्षण
उल्लेखनीय है कि बनारस में मंगलवार की शाम अर्धनिर्मित ओवर ब्रिज का बीम गिर गया था। इस भीषण हादसे में 20 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी। पहले तो काफी लोगों के मरने की आशका जताई जा रही थी। गौरतलब है कि मृतकों में बिहार के भी दो लोग शामिल थे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पथ निर्माण विभाग को बड़ी जिम्मेवारी सौंपी है। विभाग को बिहार के पुलों की मॉनिटरिंग की जिम्मेवारी दी गई है। इसके लिए पथ निर्माण विभाग ने 40 कर्मचारियों की टीम बनाई है। यही टीम पुलों की मॉनिटरिंग करेगी. इसे लेकर टीम की एक अहम बैठक होगी। दरअसल बनारस हादसे के बाद बिहार सरकार की ओर से एहतियात के तौर पर यह कदम उठाया जा रहे हैं। बनारस की घटना से बिहार सरकार भी सावधान हो गई है। मालूम है कि बनारस में कैंट रेलवे स्टेशन के पास ओवर ब्रिज का एक बीम गिरने से बड़ा हादसा हो गया था। हादसे में पहले तो 25 लोगों के मरने की खबर आ रही थी। बाद में यह क्लियर हुआ कि हादसे में 15 लोगों की मौत हुई। घटना को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया था। वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोकल प्रशासन से 48 घटे में घटना की जाच रिपोर्ट मागी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here