वाराणसी पुल हादसे पर मायावती ने जताया दुख, दोषियों को कड़ी सजा दिलाने की मांग

0
110

लखनऊ
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हुए पुल हादसे पर दुख प्रकट करते हुए बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने बुधवार को कहा कि यह अत्यंत ही गंभीर और आपराधिक लापरवाही का मामला है, सरकार को इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए। गौरतलब है कि वाराणसी में मंगलवार को निर्माणाधीन पुल का एक बड़ा हिस्सा गिर गया था, जिससे इस घटना में 18 लोगों की मौत हो गई थी।मायावती ने बुधवार को बयान जारी कर कहा कि इस घटना की तुरंत उच्च-स्तरीय जांच कराकर दोषियों को कड़ी-से-कड़ी स दिलानी चाहिए, ताकि ऐसे दर्दनाक हादसे को दोबारा होने से रोका जा सके। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि घोर आपराधिक लापरवाही के ऐसे संगीन मामलों में शीर्ष नेता सस्ती मानसिकता दिखा कर केवल ‘मन पर बोझ’ बता देते हैं और जिम्मेदारी से मुक्ति पाने का प्रयास करते हैं जो सही नहीं है। उन्होंने कहा कि इसके लिए कुछ ठोस सुधारात्मक कार्रवाई और उपाय करने की सख्त जरूरत है।मायावती ने कहा कि अक्सर यही देखा गया है कि सरकार पीड़ित परिवारों व घायलों आदि को अनुग्रह राशि आदि देकर अपने आपको जिम्मेदारी से मुक्त समझ लेती है जबकि इसके साथ-साथ सरकार का असली कर्तव्य है कि वह दोषियों की पहचान करके सजा सुनिश्चित करे ताकि घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो। उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसा नहीं होने के कारण ही प्रदेश में लगातार गंभीर आपराधिक घटनाएं होती चली जा रही हैं। प्रदेश में जमीनी स्तर पर हर तरफ हिंसा, अराजकता और जंगलराज जैसा माहौल है।बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि अपराध नियंत्रण व कानून-व्यवस्था के साथ- साथ खासकर दलितों और पिछड़ों के विरुद्ध जातिगत द्वेष, हिंसा, अन्याय-अत्याचार के मामले भी उत्तर प्रदेश में रुकने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। इतना ही नहीं बल्कि ऐसे मामलो में अपराधियों को खुलेआम पुलिस और सरकारी संरक्षण मिलने के कारण स्थिति अत्यंत ही गंभीर बनती जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here