पहले स्टेज शो के लिए सिंगर पंकज उधास को मिले थे इतने रुपये

0
81

पंकज उधास का जन्म 17 मई 1951 को गुजरात के जीतपुर में हुआ था. पंकज के पिता एक किसान थे. इसके अलावा उनके दोनों भाई भी सिंगर थे. ‘चांदी जैसा रंग है तेरा’ गीत से पंकज को पॉपुलैरिटी मिली.
पंकज उधास ने कई सारी मधुर नगमें और गजलें गाईं. उन्होंने अपनी सबसे पहली स्टेज परफॉर्मेंस में राष्ट्रभक्ति गीत ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ गाया था. इस गाने के लिए ऑडियंस से उन्हें 51 रुपये मिले थे.
मुंबई में फेस्टिवल ‘खजाना’ में पंकज उधास और आलोक श्रीवास्तव की नई एलबम लॉन्च
पंकज के दोनों भाई मनहर उधास और निर्मल उधास भी गायक थे. मनहर उधास ने बॉलीवुड में सुपरहिट गाने गाए हैं. पंकज ने संगीत नाट्य एकेदमी में तबले की बारीकियां सीखीं. इसके बाद उन्होंने वोकल्स में क्लासिकल की ट्रेनिंग ली. पंकज द्वारा शराब पर गाई हुई कई सारी गजलें आज भी काफी प्रचलित हैं.
पंकज उधास ने फारिदा से शादी की. इस शादी से उनकी तीन बेटियां हैं. पंकज ने आदाब अर्ज है नाम से एक टैलेंट हंट शो भी चलाया था जो सोनी एंटरटेनमेंट पर प्रसारित किया गया था.
मैं प्यार की ख़ुशबू हूं, महकूंगा जमानों तक: पंकज उधास से खास बातचीत
पंकज उधास अब कम गाने गाते हैं और बहुत साधारण जीवन जीते हैं. पंकज नियमित रूप से रोज 6-7 अखबार पढ़ते हैं और खुद को फिट रखने के लिए योगा और कसरत करते हैं.
संगीत के लिए दिए गए शानदार योगदान के लिए साल 2006 में भारत सरकार ने पंकज उधास को पद्मश्री से सम्मानित किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here