कौन हैं कांग्रेस के गायब विधायक आनंद, जपते थे BJP की माला

0
103

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद सत्ता के लिए छिड़ी सियासी जंग रोज नया रंग ले रही है। इस सियासी जंग में कांग्रेस के दो विधायकों ने भी खूब सुर्खियां बटोरी हैं।हम बात कर रहे हैं कांग्रेस विधायक आनंद सिंह और प्रताप गौड़ पाटिल की। सुप्रीम कोर्ट के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को 24 घंटे के भीतर बहुमत साबित करने के आदेश दिए जाने के बाद से ही ये दोनों विधायक गायब हो गए थे। कांग्रेस ने अपने दोनों विधायकों के गायब होने का आरोप भाजपा पर लगाया था।आइए आपको बताते हैं कि कौन हैं आनंद सिंह जिनके गायब होने का आरोप कांग्रेस ने भाजपा पर लगाया था..आनंद सिंह कर्नाटक चुनाव से कुछ महीने पहले तक भाजपा के नेता हुआ करते थे। पार्टी में आपसी मनमुटाव के चलते आनंद ने भाजपा का दामन छोड़ कांग्रेस का हाथ थाम लिया था। इससे पहले जब कर्नाटक में भाजपा सरकार थी तब आनंद पर्यटन मंत्री हुआ करते थे।इसी साल जनवरी में आनंद ने भाजपा को सांप्रदायिक पार्टी बताते हुए कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली थी। आनंद सिंह ने कांग्रेस की तरफ से बेल्लारी जिले की विजयनगर सीट से किस्मत आजमाई थी।किस्मत उनके साथ रही और चुनाव में उन्हें जीत मिली। बता दें कि कर्नाटक के बेल्लारी जिले में खनन माफियाओं की अच्छी पकड़ है। इस जिले में किसी भी विधायक की हार और जीत में खनन माफियाओं की बड़ी भूमिका रहती है।आनंद सिंह पर भ्रष्टाचार के मामलों में भी फंस चुके हैं। बेल्लारी में अवैध खनन के आरोप में लोकायुक्त के एसआईटी ने आनंद सिंह को 2015 में गिरफ्तार भी किया था।तब आनंद सिंह अपने पुराने दोस्त और भाजपा में अच्छी पकड़ रखने वाले जनार्दन रेड्डी के साथ जेल भी गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here