पूर्वोत्तर में ब्रीफकेस राजनीति की जगह विकास राजनीति लेकर आई मोदी सरकार: अमित शाह

0
125

नई दिल्ली: पूर्वोत्तर राज्यों में विकास की कमी के लिए पिछली कांग्रेस सरकारों को जिम्मेदार ठहराते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज कहा कि मोदी सरकार ने इस क्षेत्र में शांति और प्रगति का सूत्रपात किया और यहां का विमर्श अब बदलकर ‘ ब्रीफकेस राजनीति से विकास राजनीति ’ हो गया है.
पूर्वोत्तर जनतांत्रिक गठबंधन (नेडा) के तीसरे सम्मेलन को संबोधित करने के बाद शाह ने ट्वीट किया कि इस क्षेत्र का विकास मोदी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है , इसलिए एक केंद्रीय मंत्री विकास कार्यों का जायजा लेने के लिए हर पखवाड़े पूर्वोत्तर की यात्रा करता है.उन्होंने दावा किया , ‘‘ पूर्वोत्तर आजादी के बाद पीछे क्यों रह गया. यह कांग्रेस सरकारों के कुकृत्यों और भ्रष्टाचार के कारण हुआ. ’’भाजपा और उसके सहयोगी दल , जो नेडा के घटक हैं , मिजोरम को छोड़कर इस क्षेत्र के सभी अन्य राज्यों – असम , अरुणाचल प्रदेश , मेघालय , त्रिपुरा , मणिपुर , नगालैंड और सिक्किम में सत्ता में हैं.बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि 2014 के बाद पूर्वोत्तर में शांति देखने को मिली है और ऐसा सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कारण हुआ है. इस क्षेत्र के लोग यहां का विकास चाहते हैं जो विरोधियों के मुंह पर तमाचा है.अमित शाह ने कहा कि अरूणाचल प्रदेश में बीजेपी शासन के दौरान राज्य राज्य की आय 900 करोड़ से लेकर 1600 करोड़ हो गई. तो वहीं बांग्लादेश की तरफ से घुसपैठ और हथियारों की अवैध खरीद पर भी लगाम लगा.उन्होंने कहा कि हाईवे को बनाने के लिए कई करोड़ो रूपये खर्च किए गए जिससे लोगों की पहुंच बांग्लादेश के बंदरगाहों तक हो सके. यहां पैदा हुए माल अब आसानी से बाहर जा सकते हैं जिससे लोगों को फायदा होगा. पूर्वोत्तर को पिछली सरकारों ने पूरी तरह से खत्म कर दिया था. लेकिन म्यांमार, बांग्लादेश और भूटान के साथ फिल्हाल हमारे संबंध काफी अच्छे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here