NEWS FLASH : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह रूस के दौरे के लिए रवाना, पुतिन से होगी मुलाकात

0
167

कर्नाटक चुनाव के नतीजे आने के बाद से चल रहा हाईवोल्टेज सियासी ड्रामा येदियुरप्पा के इस्तीफे के बाद खत्म हो गया. राज्य में अब कांग्रेस-जेडीएस की सरकार बनने जा रही है. 23 मई को जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) के नेता एचडी कुमारस्वामी मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने से पहले सोमवार को दिल्ली में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और मौजूदा अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात करने वाले हैं. इस दौरान कर्नाटक कैबिनेट में संभावित मंत्रियों को लेकर चर्चा होनी है.सूत्रों के मुताबिक, कर्नाटक में बुधवार को सीएम कुमारस्वामी के साथ कुल 33 मंत्री भी शपथ लेंगे. इनमें से कांग्रेस के 20 और जेडीएस के 13 विधायक शामिल हैं. बता दें कि 224 सदस्यों वाली कर्नाटक विधानसभा में सीएम समेत 35 विधायक मंत्री बन सकते हैं. चुनाव में कांग्रेस ने 78 और जेडीएस ने 38 सीटें जीती हैं.जेडीएस नेता कुमारस्वामी बुधवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लने के 24 घंटे के अंदर ही सदन में बहुमत साबित करने की योजना बना रहे हैं. वहीं कांग्रेस अपने सभी विधायकों को अब भी बेंगलुरु के बाहर स्थित रिजॉर्ट में ही रखे हुई है.बता दें कि पहले कुमारस्वामी 21 मई यानी सोमवार को ही सीएम पद की शपथ लेने वाले थे. लेकिन, 21 मई को पूर्व पीएम राजीव गांधी की पुण्यतिथि है. इसलिए अब शपथ ग्रहण समारोह 23 मई यानी बुधवार को होगा. कुमारस्वामी ने बताया, “बुधवार को शपथ ग्रहण है. गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव होगा और उसके बाद विश्वास मत की तारीख तय की जाएगी.”
शपथ ग्रहण में शामिल हो सकते हैं ये नेता
कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में राहुल गांधी समेत तमाम कांग्रेस नेताओं के अलावा तेलंगाना के सीएम के. चंद्रशेखर राव, आंध्र प्रदेश के सीएम एन. चद्रबाबू नायडू, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को भी बुलाया गया है.
दूसरी बार सीएम बनेंगे कुमारस्वामी
पूर्व पीएम देवगौड़ा के बेटे कुमारस्वामी दूसरी बार सीएम बन रहे हैं. इसके पहले वह 4 फरवरी 2006 को बीजेपी के समर्थन से सीएम बने थे. 20 महीने बाद उनकी सरकार गिर गई थी.
कर्नाटक को मिल सकते हैं दो डिप्टी सीएम
सूत्रों के मुताबिक, इस बार दो उपमुख्यमंत्री भी बनाए जा सकते हैं. कांग्रेस की तरफ से जहां प्रदेश अध्यक्ष जी. परेश्वमर के अलावा राज्य में पिछले दिनों हुई सियासी-रस्साकशी के दौरान पार्टी के संकटमोचक रहे डीके शिवकुमार का नाम इस पद के लिए बढ़ाया जा रहा है.वहीं जेडीएस किसी मुस्लिम को उपमुख्यमंत्री बनाया चाह रही है. इसके अलावा कांग्रेस नेता एवं राज्य के सबसे वरिष्ठ विधायक डीवी देशपांडे को विधानसभा स्पीकर का पद दिया जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here