कुमारस्वामी ने सोनिया-राहुल से की मुलाकात, कर्नाटक सरकार का फॉर्मूला तैयार

0
72

कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस सरकार के गठन का फार्मूला तैयार हो गया है। भावी मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी से मुलाकात की। दोनों पार्टियों ने फैसला किया कि सरकार चलाने के लिए छह सदस्यीय समन्वय समिति का गठन किया जाएगा।कुछ ही मंत्री शपथ लेंगे: एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि बुधवार को दोनों दलों के कई विधायक मंत्री पद की शपथ लेंगे। हालांकि सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री के साथ कुछ मंत्री ही मंत्रिमंडल में शामिल होंगे। विधानसभा में बहुमत हासिल करने के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस उपमुख्यमंत्री के अलावा कुल 20 मंत्री पद चाहती है और मंगलवार को बेंगलुरु में होने वाली बैठक में इसी पर फैसला होगा। कांगे्रस ने प्रभारी महासचिव केसी वेणुगोपाल को इसके लिए अधिकृत किया है।अध्यक्ष पर सहमति: इस बात पर भी फैसला हुआ कि विधानसभा अध्यक्ष कांग्रेस का होगा। आरवी देशपांडे को विधानसभा अध्यक्ष बनाया जा सकता है। वहीं, जेडीएस नेता कुंवर दानिश अली ने पुष्टि की है कि समन्वय समिति में दोनों पार्टियों के पांच से छह सदस्य शामिल होंगे। चर्चा में तय हुआ कि अब दोनों दलों को साथ मिलकर चलना है।
शपथ ग्रहण में ताकत का अहसास कराएगा विपक्ष
कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में विपक्षी एकता दिखाने की तैयारी भी की गई है। बेंगलुरु में बुधवार को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में सभी विपक्षी दलों के नेता शामिल हो सकते हैं। कांग्रेस -जेडीएस सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, केरल और दिल्ली के मुख्यमंत्री भी शिरकत कर सकते हैं।कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और बसपा अध्यक्ष मायावती को कुमारस्वामी ने खुद शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का न्योता दिया है। दरअसल, कांग्रेस और जेडीएस कर्नाटक में इस जीत को विपक्षी एकता के तौर पर पेश करने की तैयारी कर रहे हैं। इसलिए, मंच पर तमाम विपक्षी नेताओं का जमावड़ा नजर आएगा।कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि शपथ ग्रहण समारोह के लिए झारखंड मुक्ति मोर्चा, बीजू जनता दल (बीजेडी) और द्रमुक को भी न्योता दिया गया है। पर अभी तक उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया है। दिलचस्प बात यह है कि कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह को लोकसभा के नजरिए से देखा जाए, तो समारोह में जिन दलों को न्योता दिया गया है, वह लोकसभा की 270 से अधिक सीटों पर मजबूत दावेदारी रखती हैं।जेडीएस का कहना है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव, केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हो सकते हैं। इनमें केजरीवाल समेत कई मुख्यमंत्रियों ने समारोह में शामिल होने पर मुहर भी लगा दी है। इनके साथ बसपा सुप्रीमों मायावती, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, भाकपा के सुधाकर रेड्डी, राजद के तेजस्वी यादव और नेशनल कांफ्रेस से उमर अब्दुल्ला के अलावा कई अन्य दलों के नेता भी मंच पर दिखाई देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here