पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से परेशान लोग, कहा- वो दिन दूर नहीं जब 100 रुपए होगा तेल

0
107

पेट्रोल और डीजल की कीमत में लगातार बढ़ोतरी जारी है। दिल्ली में आज डीजल का दाम 26 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 68 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंच गया। वहीं पेट्रोल के दाम में भी 30 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली में डीजल 68.08 रुपये प्रति लीटर और पेट्रोल 76.87 रुपये प्रति लीटर पहुंच गया है। पेट्रोल और डीजल की सबसे अधिक कीमत मुंबई में है।यहां पर पेट्रोल 84.70 रुपये और डीजल 72.48 रुपये प्रति लीटर है जबकि कोलकाता में डीजल 70.63 रुपये और पेट्रोल 79.53 रुपये प्रति लीटर है। वहीं चेन्नई में डीजल की कीमत 71.87 रुपये तथा पेट्रोल 79.79 प्रति लीटर है। पिछले कुछ समय से अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में हो रही बढ़ोतरी का असर घरेलू स्तर पर भी देखने को मिल रहा है। तेल कंपनियां विश्व बाजार के आधार पर रोजाना तेल की कीमत तय करती हैं।मुंबई में बढ़ी कीमतों को लेकर एक शख्स ने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमत हर हफ्ते बढ़ रही है। और प्रदेशों के मुकाबले में मुंबई में कीमत सबसे ज्यादा है। अगर ऐसा ही चलता रहा तो ऐसी हालत में हम कैसे जिएंगे। वहीं भोपाल में लोगों का कहना है कि वो वक्त दूर नहीं है जब पेट्रोल की कीमत 100 रुपए हो जाएगी। सरकार को जल्दी ही कीमतों को घटाना चाहिए। इसका असर हमारे बजट पर पढ़ रहा है।उधर पेट्रोल-डीजल के दाम रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने के बाद केंद्र सरकार की चिंता बढ़ गई है। राहत की चौतरफा मांग के बीच तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को कहा कि सरकार तेल की कीमतों को काबू में रखने के तमाम विकल्पों पर विचार कर रही है और जल्द ही इसकी घोषणा होगी। प्रधान ने एक कार्यक्रम में कहा कि कदम दर कदम तेल की कीमतों में कमी के विकल्पों पर विचार जारी है। जल्द ही दाम नीचे आएंगे।दरअसल, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतें अक्तूबर 2014 के स्तर पर पहुंच जाने के बाद सरकार की मुश्किलें बढ़ी हैं। ओपेक देशों द्वारा लगातार तेल उत्पादन में कटौती और अमेरिका-चीन के बीच चल रहे व्यापार युद्ध ने बाजार में दबाव बढ़ाया है। ओपेक के साथ शीर्ष उत्पादकों में से एक रूस भी आपूर्ति में कमी ला रहा है, जिससे हालात और बिगड़े हैं।गौरतलब है कि भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है और 80 फीसदी जरूरत के लिए आयात करना पड़ता है। कच्चे तेल का दाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 80 डॉलर प्रति बैरल पहुंच गया है। विशेषज्ञों का कहना है कि भारतीय अर्थव्यवस्था फिर से उछाल पर रही है और ऐसे में तेल की कीमतों में बढ़ोतरी इसे पटरी से उतार सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here