तूतीकोरिन हिंसा: TNPCB ने स्टरलाइट प्लांट को तुरंत बंद का आदेश दिया, बिजली काटी गई

0
93

तमिलनाडु प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (TNPCB) ने तूतिकोरिन में वेदांता के यूनिट स्टरलाइट कॉपर प्लांट को तत्काल प्रभाव से बंद करने का आदेश दिया है। गुरुवार तड़के बिजली आपूर्ति को प्लांट में डिस्कनेक्ट कर दिया है। संयंत्र को बंद करने के आदेश बुधवार को टीएनपीसीबी के अध्यक्ष द्वारा जारी किए गए थे। सूत्रों ने बताया कि प्लांट को बिजली आपूर्ति गुरुवार सुबह 5.15 बजे डिस्कनेक्ट कर दी गई थी।टीएनपीसीबी ने कहा कि 18 मई और 1 9 मई को अपने अधिकारियों द्वारा किए गए निरीक्षण के दौरान, यह पाया गया कि “इकाई अपने उत्पादन संचालन को फिर से शुरू करने के लिए गतिविधियां कर रही थी।”तूतीकोरिन में स्टरलाइट तांबा संयंत्र को बंद करने को लेकर मंगलवार को पुलिस गोलीबारी में दस लोगों के मारे जाने के बाद बुधवार को भी विरोध प्रदर्शन जारी रहा। बुधवार को प्रदर्शकारियों और पुलिस के बीच हुई झड़प के बीच पुलिस की गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए। तमिलनाडु सरकार ने तूतीकोरिन हिंसा की जांच के लिए मद्रास उच्च न्यायालय की सेवानिवृत्त न्यायाधीश अरूणा जगदीशन की अगुवाई में एक सदस्यीय जांच आयोग गठित किया है। वह सरकार को अपनी रिपोर्ट सौपेंगे। हालांकि रिपोर्ट सौंपने के लिए समयसीमा का उल्लेख नहीं किया गया है।तमिलनाडु सरकार ने तूतीकोरिन में लगातार दूसरे दिन हुई हिंसा के बाद जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक का तबादला कर दिया। एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार तूतीकोरिन के जिला कलेक्टर एन वेंकटेश के स्थान पर तिरूनेवली के जिला कलेक्टर संदीप नंदूरी को लगाया गया है। प्रदर्शनकारियों पर पुलिस गोलीबारी के चलते जिला पुलिस अधीक्षक पी महेंद्रन को चेन्नई स्थानांतरित कर दिया गया है। उनके स्थान पर नीलगिरीस जिला एसपी मुरली रामभा को जिम्मेदारी सौंपी गई है। वेंकटेश को अतिरिक्त राज्य परियोजना अधिकारी के तौर पर नियुक्त किया गया है।मद्रास उच्च न्यायालय ने बुधवार को राज्य सरकार को निर्देश दिया कि तूतीकोरिन में 22 मई को स्टरलाइट विरोधी प्रदर्शन के दौरान पुलिस गोलीबारी में मारे गए लोगों के शव अगले आदेश तक संरक्षित रखे जाएं। न्यायमूर्ति टी रवींद्रन और न्यायमूर्ति पी वेलमुरुगन की अवकाश पीठ ने सरकार को वकीलों द्वारा दायर जनहित याचिका पर 30 मई तक जवाबी हलफनामा दायर करने का निर्देश दिया। याचिकाकर्ताओं ने फिर से पोस्टमार्टम कराने के लिए निजी डाक्टरों की एक टीम गठित करने हेतु अधिकारियों को अंतरिम निर्देश देने का अनुरोध किया। तमिलनाडु सरकार ने सोशल मीडिया के जरिये अफवाह फैलने से रोकने और शांति बहाली के लिए बुधवार को तूतीकोरिन और उसके आसपास के तिरूनेलवेली और कन्याकुमारी जिलों में इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी। सरकार ने सोशल मीडिया पर भड़काऊ संदेश प्रसारित होने का आरोप लगाते हुए एक आदेश में कहा कि ऐसे संदेशों से मंगलवार को तूतीकोरिन में स्टरलाइट कॉपर संयंत्र के खिलाफ करीब 20 हजार लोगों की बड़ी भीड़ एकत्रित हो गई। इसका परिणाम बाद में हिंसा और पुलिस कार्रवाई के तौर पर सामने आया। सरकार ने इन तीन जिलों में इंटरनेट सेवा प्रदाताओं के नोडल अधिकारियों को बुधवार से 27 मई तक इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगाने का निर्देश दिया।तूतीकोरिन में दूसरे दिन भी हुई हिंसा के चलते तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित बुधवार को निलगिरिस में अपने ठहराव को रद्द कर चेन्नई लौट आए। पुरोहित, अपने परिवार के साथ 21 मई को वैदिक वार्षिक पुष्प समारोह में भाग लेने के लिए उधगममंडलम चले गए थे। उनका वहां दो जून तक रूकने का कार्यक्रम था।अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन कांग्रेस (एटक) ने तमिलनाडु में वेदांता स्टरलाइट प्रोजेक्ट के बाहर चल रहे विरोध प्रदर्शन के दमन के प्रयास की बुधवार को कड़ी भर्त्सना की। एटक ने एक बयान में कहा कि वहां प्रदूषण फैला रहे एक कारखाने का शांतिपूर्ण विरोध करने वाले प्रदर्शनकारियों पर की गई बर्बर कार्रवाई का एटक विरोध करता है ओर लोगों का आह्वान करता है कि वे आंख मूंद कर कॉरपोरेट हितैषी नीतियों अपनाने वाली इस सरकार को सत्ता से बाहर करने के लिए एक जुट हों।वेदांता लि. ने बुधवार को सरकार से उसके तमिलनाडु के तूतीकोरिन के कॉपर कारखाने के कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा है। साथ ही कंपनी ने इस संयंत्र के विरोध में हुए प्रदर्शन के दौरान पुलिस गोलीबारी में लोगों के मारे जाने की घटना पर दुख जताया है। वेदांता लि. ने बंबई शेयर बाजार को भेजी सूचना में कहा कि मंगलवार की घटना पर हमें बेहद दुख है। तूतीकोरिन हिंसा के विरोध में तमिलनाडु सरकार की निंदा करते हुए नागरिकों के समूह और छात्र संगठनों ने बुधवार को तमिलनाडु भवन के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी की और तमिलनाडु के प्रधान स्थानीय आयुक्त जसबीर सिंह बजाज से बातचीत की मांग की। सुरक्षाकर्मियों ने हालांकि बैरिकेड लगा रखा था और प्रदर्शनकारियों को परिसर के भीतर घुसने से रोका गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here