879.75 करोड़ रुपये की योजनाओं का शिलान्यास, नीतीश ने कहा, पूरा किया बेहतर कोसी बनाने का वादा

0
75

सरायगढ़/सुपौल : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को जिले के सरायगढ़ में कोसी तटबंध और कोसी मुख्य नहर से जुड़ी कुल 879.75 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास किया. इस मौके पर बिहारी गुरमैता हाईस्कूल मैदान में आयोजित जनसभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2008 में कोसी त्रासदी से इलाके में व्यापक तबाही हुई थी. तब उन्होंने बेहतर कोसी निर्माण का वादा किया था. आज यह वादा पूरा हो गया.

उन्होंने कहा कि वर्ष 2005 में जब वे न्याय यात्रा के दौरान यहां आये थे तो क्षेत्र की स्थिति काफी अजीब थी. विकास से इलाका अछूता था. अब देख कर दिल को तसल्ली होती है कि इलाके में विकास के अनेक कार्य हुए हैं और यहां के लोग अब खुश हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि वे जो निर्णय लेते हैं, उस पर अमल करते हैं.

कोसी तटबंध और नहर से जुड़ी करीब 880 करोड़ की इन चारों योजनाओं के कार्यान्वयन से क्षेत्र के पांच जिलों के लोगों को लाभ मिलेगा और करीब एक करोड़ लोग इससे लाभान्वित होंगे.

इतना ही नहीं, लगभग 10 लाख हेक्टेयर भूमि सिंचाई परियोजना से कृषि योग्य बन जायेगी. उन्होंने कहा कि वर्ष 2008 से ही बेहतर कोसी निर्माण का कार्य शुरू किया गया था, जो आज तकरीबन पूरा हो गया. मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के करीब 76% लोग खेती पर निर्भर हैं. यही वजह है कि खेती को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न चरणों में उन्होंने कृषि रोड मैप बना कर काम शुरू किया और आज देखिए यह इलाका खेती योग्य बन गया है. यहां धान की अच्छी पैदावार होती है.

समाज में भाईचारा कायम रखने के लिए किया काम

मुख्यमंत्री ने कहा कि न्याय के साथ विकास यात्रा में हमने समाज में प्रेम व सद‍्भावना के साथ भाईचारा कायम रखने के लिए काम किया. नारी सशक्तीकरण को लेकर कई योजनाएं चलायी जा रही हैं. बिहार पहला राज्य है जहां महिलाओं को स्थानीय िनकायों में 50% और सरकारी नौकरियों में 35% आरक्षण दिया गया. बाल विवाह व दहेज प्रथा जैसी कुरीतियों से हमारा समाज जूझ रहा है. कम उम्र में बच्चे होने से प्राय: बच्चे कमजोर होते हैं और शिशु मृत्यु दर भी अधिक होती है.

इसलिए बाल विवाह जैसी कुरीति को खत्म करना होगा. एक बात और सामने आयी है कि ऐसे मामलों में परिवार के लोग लड़कों को बचा लेते हैं, लेकिन लड़कियों के प्रति उदासीन रवैया अपनाया जाता है. ऐसी कुरीतियों से हमें बचना होगा. लड़की पैदा होने से स्नातक होने तक हमने 54,100 रुपये प्रति बालिका देने की योजना चलायी है. इसके तहत जन्म लेने के साथ ही दो हजार रुपये, एक वर्ष होने पर एक हजार रुपये, आधार लिंक होने पर पुन: एक हजार रुपये और अगले साल दो हजार रुपये देने का प्रावधान है.

बालिका जब पढ़ने लगती है, तब 600 रुपये पोशाक राशि, तीसरी कक्षा में जाने के बाद 700 रुपये, छठी से आठवीं में एक हजार तथा नवमी से दशवीं में 1500 रुपये पोशाक के लिए दिये जा रहे हैं. इंटर पास करने पर अविवाहित लड़की को 10 हजार रुपये देने का प्रावधान है, जबकि स्नातक पास कर चुकी विवाहित अथवा अविवाहित लड़की को 25 हजार रुपये देने का फैसला लिया गया है. हमने एक और कदम अनुसूचित जाति, जनजाति व अति पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं के लिए उठाया है. इसके तहत बीपीएससी का पीटी पास करने पर 50 हजार रुपये और यूपीएससी का पीटी पास करने पर एक लाख रुपये देने का प्रावधान किया गया है.

इस साल के अंत तक हर घर में पहुंचेगी िबजली

मुख्यमंत्री ने सात निश्चय योजना की चर्चा करते हुए कहा कि योजना के तहत सूबे के हर गांव में अब तक बिजली पहुंचा दी गयी है.अभी-अभी ऊर्जा मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव ने उन्हें बताया है कि इस वर्ष के अंत तक हर घर में बिजली उपलब्ध होगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि हर घर नल जल, शौचालय, सड़क जैसी तमाम योजनाओं पर युद्ध स्तर पर काम चल रहा है. शराबबंदी की चर्चा करते उन्होंने कहा कि दो साल के बाद शराबबंदी का असर दिख रहा है. इसे सख्ती से पालन करने के लिए सरकार ने अलग तंत्र भी विकसित किया है, जहां सीधे शिकायत की जा सकती है. सीएम ने आपसी भाईचारा व सौहार्द बनाये रखने पर जोर देते हुए कहा कि समाज सुधार के मामले में वे कोई समझौता करने वाले नहीं है. हर वर्ग के बीच आपसी सौहार्द निहायत जरूरी है. मुख्यमंत्री ने सभा के दौरान अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को रमजान की शुभकामनां भी दीं.

इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव, जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह, अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री रमेश ऋषिदेव, उपभोक्ता संरक्षण मंत्री मदन सहनी, विधान परिषद के सभापति मो हारूण रशीद, विधायक अनिरूद्ध प्रसाद यादव, वीणा भारती, नीरज कुमार सिंह बबलू, एमएलसी संजय झा, विजय कुमार मिश्र, आदि मौजूद थे.
जो भी निर्णय लेता हूं, उस पर अमल करता हूं
केंद्र ने सीएम की सुरक्षा कड़ी करने का दिया निर्देश

मुजफ्फरपुर. केंद्र ने सीएम नीतीश कुमार की सुरक्षा को और सुदृढ़ करने की आवश्यकता जतायी है. केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश पर विशेष शाखा ने कहा है कि उनके पूर्व के दौरे के दौरान कई बार अव्यवस्था की स्थिति पैदा हो गयी. ऐसी घटनाएं िफर न हों, इसके लिए 13 बिंदुओं का सुरक्षा निर्देश जारी कर उसके अक्षरश: पालन की हिदायत दी है.

इन योजनाओं का हुआ शिलान्यास

पूर्वी एवं पश्चिमी कोसी तटबंध का ऊंचीकरण, सुदृढ़ीकरण, पक्कीकरण एवं संरचनाओं का निर्माण व पुनर्स्थापन कार्य
पूर्वी कोसी तटबंध के किमी15.5 और किमी 28.2 के बीच 14 अदद स्परों का सुरक्षात्मक और पुनर्स्थापन कार्य
पूर्वी कोसी तटबंध के िकमी 78 और 84.00 के बीच 17 अदद स्परों का सुरक्षात्मक और पुनर्स्थापन कार्य
पूर्वी कोसी मुख्य नहर की रानीपट्टी वितरणी नहर के संचालन, निरीक्षण व सिंचाई के लिए सेवा पथ का पक्कीकरण कार्य

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here