आज से बैंकों की दो दिवसीय हड़ताल शुरू, एटीएम में भी लटके ताले

0
59

बैंकों में आज से दो दिनों की हड़ताल रहेगी। इस दौरान बैंक शाखाएं बंद हैं और पटना में एटीएम के शटर भी बंद हैं। महीने की आखिरी तारीख होने की वजह से आज और कल लोगों को परेशानी होगी।
पटना । आज से बैंको का दो दिवसीय देशव्यापी हड़ताल शुरू हो गया है। बैंककर्मियों के इस दो दिवसीय हड़ताल में सार्वजनिक बैंको के साथ निजी बैंक भी शामिल हैं। वेतन में वृद्धि की मांग को लेकर यूनाइटेड फोरम ऑफ़ बैंक यूनियंस के आह्वान पर 10 लाख बैंक कर्मचारी और अधिकारी दो दिनों की हड़ताल पर हैं।
इस हड़ताल का असर बिहार के सभी बैंकों और एटीएम पर दिख रहा है, जहां पटना समेत राज्य के अलग-अलग जिलों के एटीएम बंद हैं। एटीएम बंद होने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लोग कैश के लिये एक एटीएम से दूसरे एटीएम की दौड़ लगा रहे हैं। महीने की आखिरी तारीख होने के कारण लोगों के वेतन भुगतान और पेंशन राशि के भुगतान में भी परेशानी हो रही है।
-बेगूसराय में बैंक कर्मचारियों के हड़ताल का व्यापक असर देखा गया है। बैंक में तालाबंदी कर बैंककर्मियों ने जमकर की नारेबाजी और अपनी मांगों के समर्थन में जुलूस निकाला।
बैंक से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि हमारी मांगें जायज हैं और इस बंदी का देशव्यापी असर देखने को मिलेगा। सोमवार को नई दिल्ली में श्रम आयुक्त के समक्ष इंडियन बैंक एसोसिएशन (आइबीए) और यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) के बीच हुई वार्ता बेनतीजा रही।
वेतन पुनरीक्षण की वजह से हड़ताल
ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन के वरीय उपाध्यक्ष डॉ. कुमार अरविंद ने बताया कि बैंककर्मियों का पिछला वेतन पुनरीक्षण 15 फीसद वृद्धि के साथ संपन्न हुआ था। नए वेतन पुनरीक्षण में आइबीए ने बीते दिनों दो फीसद का प्रस्ताव दिया जिसे यूएफबीयू ने फौरन खारिज कर दिया था।
बैंक अधिकारियों के वेतन पुनरीक्षण में भेदभाव पैदा करने की नीति अपनाई गई है। यह अपमानजनक है। हमारे पास हड़ताल के अलावा कोई चारा नहीं है।
बिहार प्रोविंसियल बैंक इंप्लाइज एसोसिएशन के सचिव संजय तिवारी ने कहा है कि हड़ताल के दौरान सरकारी के साथ निजी बैंक भी बंद रहेंगे। साथ ही एटीएम सेवा भी बंद रहेगी।
उन्होंने बताया कि वेतन संशोधन एक नवंबर 2017 से लंबित है। लंबे समय से हमारी मांग को ठंडे बस्ते डाल कर रखा गया है। दो दिवसीय हड़ताल के बाद भी अगर बैंक प्रबंधन सम्मानजनक समझौता नहीं करता है तो बैंककर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल के लिए बाध्य होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here