मायावती ने खाली किया एक बंगला, स्पीड पोस्ट से भेजी चाबी, कांशीराम यादगार भवन को बनाया बसेरा

0
67

बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने बतौर पूर्व मुख्यमंत्री आवंटित लाल बहादुर शास्त्री मार्ग पर बंगला नं.-6 को छोड़ कर बड़ा दांव खेला है। इससे यह तो साफ हो गया है कि वह 13-ए माल एवेन्यू पर बने कांशीराम जी यादगार विश्राम स्थल नहीं छोड़ेंगी। यह बात अलग है कि राज्य संपत्ति विभाग द्वारा इसे लेने से इनकार किए जाने पर उनके निजी सचिव मेवालाल गौतम ने बंगला खाली करने का पत्र और चाभी स्पीड पोस्ट से भेजी दी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर छोड़ा बंगला: मायावती ने 29 मई को विशेष सचिव व राज्य संपत्ति अधिकारी को बंगला छोड़ने का पत्र और चाभियां भेजी। उन्होंने पत्र में लिखा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बंगला नं.-6 खाली कर रही हैं। राज्य संपत्ति विभाग ने पूर्व मुख्यमंत्री की हैसियत से 23 दिसंबर 2011 को यह बंगला उन्हें आवंटित किया था।राज्य संपत्ति विभाग का चाभी लेने से इनकार: मायावती के निजी सचिव मेवालाल गौतम ने कहा है कि राज्य संपत्ति अधिकारी के यहां जब बंगला छोड़ने का पत्र और चाभी भेजी गई तो यह कहते हुए वापस कर दिया गया कि अवर अभियंता सिविल अनुरक्षण खंड-2 लोक निर्माण विभाग लेंगे।मायावती पूर्व मुख्यमंत्री की हैसियत से बंगला नं.-6 में कभी-कभार जाती रही हैं। लखनऊ आने के बाद अधिकतर वह 13-ए माल एवेन्यू पर बने ‘कांशीराम जी यादगार विश्राम स्थल’ पर ही रहती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here