हवाई सफर के लिए बढ़ सकता है जेब पर बोझ

0
141

तेल कंपनियों ने इस माह दूसरी बार विमान ईंधन यानी एटीएफ की कीमतों में भारी इजाफा किया है। बढ़ती एटीएफ की कीमतों को देखते हुए विमानन कंपनियां हवाई किराये में बढ़ोतरी कर सकती हैं। एटीएफ की कीमत पिछले चार वर्षों के उच्चस्तर पर पहुंच चुकी है। तेल कंपनियों ने विमान ईंधन की कीमत में सात प्रतिशत की वृद्धि की है। सरकारी तेल कंपनियों के मुताबिक, दिल्ली में एटीएफ के दाम 4,688 रुपये यानी 7.17 प्रतिशत बढ़कर 70,028 रुपये प्रति किलोलीटर हो गए हैं।विमान ईंधन में यह दूसरी सीधी वृद्धि की गई है। इससे पहले एक मई को एटीएफ की कीमत 3,890 रुपये प्रति किलोलीटर यानी 6.3 प्रतिशत बढ़ाकर 61,450 रुपये प्रति किलोलीटर की गई थी। दोनों वृद्धि की वजह से एटीएफ के दाम वर्ष 2014 के बाद से सबसे अधिक हो गए हैं।
इंडिगो ने बढ़ाए थे दाम: विमान ईंधन कीमतों में लगातार बढ़ोतरी के कारण घरेलू विमानन कंपनी इंडिगो ने गत 29 मई को यात्रियों पर 400 रुपये का फ्यूल सरचार्ज लगाया था। इसमें 1000 किलोमीटर तक 200 रुपये और उससे ज्यादा पर 400 रुपये सरचार्ज लगाया था। अब अन्य विमानन कंपनियां भी इसका बोझ यात्रियों पर डाल सकती हैं। इससे सरकार की सस्ती विमान सेवा उपलब्ध कराने वाली उड़ान योजना को भी झटका लग सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here