गर्मी का कहर: कश्मीर सहित कई राज्यों में लू का प्रकोप, UP-बिहार में आंधी-बारिश का अलर्ट

0
47

गर्मी के कहर से अब कश्मीर भी अछूता नहीं है। सोमवार को कश्मीर को लू प्रभावित क्षेत्र के रूप में घोषित कर दिया गया। वहीं राजस्थान के हिस्सों में झुलसाने वाली गर्मी का प्रकोप जारी है। श्रीगंगानगर 47 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ देश में सबसे गर्म स्थान रहा। मौसम विभाग के मुताबिक, आने वाले एक-दो दिनों में गर्मी से निजात मिलने की उम्मीद नहीं है।कश्मीर में अधिकतम तापमान 34.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया, जो कि सामान्य से 8.1 डिग्री अधिक रहा। अगले कुछ दिनों तक असामान्य रूप से उच्च तापमान से राहत के कोई आसार नहीं हैं और इसी के चलते प्रशासन ने कश्मीर को ‘लू की चपेट वाला क्षेत्र’ घोषित कर दिया है। मौसम विभाग के निदेशक सोनम लोटस ने बताया, ‘जब पहाड़ी क्षेत्रों में तापमान सामान्य से चार डिग्री सेल्सियस अधिक रहता है तो हम उन क्षेत्रों को लू की चपेट में आया घोषित करते हैं जबकि घाटी में तापमान सभी मौसम स्टेशनों में छह से आठ डिग्री अधिक दर्ज किया गया।’
उन्होंने बताया कि जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी में रविवार का दिन इस साल का सबसे गर्म दिन रहा। अभी तक सबसे अधिक तापमान 35 डिग्री सेल्सियस रहा। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोमवार को तापमान में कुछ डिग्री सेल्सियस की वृद्धि दर्ज की गई। यहां का अधिकतम तापमान 41.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हालांकि शाम में सापेक्षिक आर्द्रता 62 फीसदी दर्ज की गई।
पंजाब और हरियाणा भी भीषण गर्मी
पंजाब और हरियाणा में भी गर्मी का प्रकोप जारी है और दोनों ही राज्यों में नारनौल सबसे गर्म स्थान रहा। यहां का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
नासिक में बारिश से पांच लोगों की मौत
महाराष्ट्र के नासिक में मानसून से पहले हो रही बारिश और आंधी में अलग-अलग दो घटनाओं में पांच लोगों की मौत हो गई। शनिवार और रविवार को नासिक के कुछ तहसील में मानसून से पहले भारी बारिश हुई।
यूपी-बिहार में आज आंधी-बारिश संभव
उत्तर प्रदेश में चिपचिपी धूप और उमस से जनजीवन बेहाल है। चिलचिलाती धूप के साथ पुरवाई ने उमस बढ़ा दी है। मौसम वैज्ञानिक ने उत्तर प्रदेश, झारखंड और बिहार के दूरदराज इलाकों में मंगलवार को धूलभरी आंधी आने की संभावना जाहिर की है। मौसम विभाग ने बताया कि उत्तर प्रदेश में झांसी 44.8 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे गर्म स्थान रहा।मौसम विभाग के अनुसार 11 जून से दक्षिणी-पश्चिमी मानसून की गतिविधियां बंगाल की खाड़ी में भी शुरू हो जाएंगी, जिसके नतीजे में 12 जून से उत्तर प्रदेश में मानसून से पहले की बारिश का सिलसिला शुरू होने के आसार बन रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here