ट्रंप-किम की ऐतिहासिक बैठकः सिंगापुर में 12 जून को मिलेंगे दोनों नेता, अमेरिकी अधिकारियों ने मुकर्रर किया ये वक्त

0
53

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 12 जून को सिंगापुर में मिलेंगे। उनके मिलने की व्यवस्था सिंगापुर के रिसॉर्ट में की गई है। इसके एक दिन का किराया 4 लाख रुपये से भी ज्यादा है। दोनों के नेताओं की बैठक के लिए व्हाइट हाउस ने एक वक्त भी मुकर्रर किया है, जो स्थानीय समयानुसार सुबह नौ बजे का है।व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने नियमित संवाददाता सम्मेलन में आज यह जानकारी देते हुए कहा, ”मैं आपको बता दूं कि राष्ट्रपति अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा टीम से उत्तर कोरिया पर नियमित रूप से जानकारी प्राप्त कर रहे हैं और पहली बैठक 12 जून को सिंगापुर के समयानुसार सुबह नौ बजे होगी जबकि ईस्ट कोस्ट समय के अनुसार 11 जून को रात नौ बजे होगी।उन्होंने कहा कि ट्रंप प्रशासन अमेरिका के राष्ट्रपति और उत्तर कोरियाई नेता के बीच 12 जून को शिखर वार्ता की सक्रियता से तैयारी कर रहा है।सैंडर्स ने कहा, ”सिंगापुर में आधुनिक दल लॉजिस्टिकल तैयारियां कर रहा है और शिखर वार्ता शुरू होने तक यह पूरी हो जाएगी। असैन्यीकृत जोन में अमेरिकी राजदूत का प्रतिनिधिमंडल उत्तर कोरिया के प्रतिनिधिमंडल के साथ कूटनीतिक बातचीत कर रहा है। बातचीत बहुत सकारात्मक है और इसमें अहम प्रगति की गई है।ट्रंप ने पिछले सप्ताह शिखर वार्ता की योजना बनाने के लिए व्हाइट हाउस में उत्तर कोरिया के शीर्ष अधिकारी से मुलाकात की थी। अधिकारी ने उन्हें किम जोंग उन का एक पत्र दिया था। यह पूछे जाने पर कि क्या ट्रंप रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और किम जोंग उन के बीच बैठक का समर्थन करते हैं, इस पर सैंडर्स ने कहा कि अभी प्रशासन का ध्यान राष्ट्रपति की उत्तर कोरियाई नेता के साथ बैठक पर है।
उन्होंने कहा, ”जब हम सिंगापुर में होंगे तो राष्ट्रपति उनसे सीधे अपने विचार साझा करेंगे और हमारा मुख्य ध्यान परमाणु निरस्त्रीकरण पर होगा।
डोनाल्ड ट्रंप से मिलने से पहले किम जोंग ने बदले अपने तीन अधिकारी
उत्तर कोरिया पर ”अधिकतम दबाव बनाने की नीति पर एक सवाल के जवाब में प्रेस सचिव ने कहा कि प्योंगयांग को लेकर अमेरिका की नीति में कोई बदलाव नहीं हुआ है। उन्होंने कहा, ”हमारी नीति नहीं बदली है। जैसा कि राष्ट्रपति ने कहा कि हमने उन पर प्रतिबंध लगा रखे हैं। वे बहुत शक्तिशाली हैं और जब तक उत्तर कोरिया परमाणु हथियार मुक्त क्षेत्र नहीं बनेगा तब तक हम प्रतिबंध नहीं हटाएंगे।
मीटिंग से पहले किम ने बदले तीन अधिकारी
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तथा उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के बीच 12 जून को होने वाली मुलाकात से पहले उत्तर कोरिया ने अपने तीन शीर्ष सैन्य अधिकारियों को उनके पदों से हटा दिया है। एक वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारी ने रविवार को इस बात की जानकारी दी। उन्होंने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर दक्षिण कोरिया की योनहाप संवाद एजेंसी की रिपोर्ट के आधार पर यह जानकारी दी जिसमें बताया गया है कि उत्तर कोरिया ने तीन शीर्ष सैन्य अधिकारियों को बदल दिया है।अमेरिकी अधिकारियों का मानना है कि द.कोरिया और अमेरिका के प्रति उन के दृष्टिकोण को लेकर उत्तर कोरिया की सेना में मतभेद है। उन्होंने हटाए गए सैन्य अधिकारियों के नाम के बारे में जानकारी नहीं दी, लेकिन दक्षिण कोरिया की संवाद एजेंसी ने उन अधिकारियों की पहचान रक्षा प्रमुख पाक योंग सिक, कोरियाई पीपुल्स आमीर् (केपीए) जेनरल स्टॉफ के प्रमुख रि म्योंग सु और केपीए के जनरल पॉलिटिकल ब्यूरो के निदेशक किम जोंग गिल के तौर पर दी है।
जेब में पैसे नहीं फिर भी किम की ये है शर्त
डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग की मुलाकात से पहले अमेरिका के लिए एक मुश्किल आ गई है। दरअसल तानाशाह किम जोंग ऊन ने सिंगापुर के ऐसे होटल में अपने रहने की व्यवस्था करने की मांग की है, जिसका एक दिन का किराया 6 हजार डॉलर यानी 4 लाख रुपये से भी ज्यादा है। इसमें दुविधा ये है कि यह बिल किम जोंग को नहीं बल्कि अमेरिका को भरना होगा।द वाशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, उत्तर कोरिया की अर्थव्यवस्था कड़े प्रतिबंधों की वजह से कमजोर हो गई है। उत्तर कोरिया को जरूरत है कि सिंगापुर में सिंगापुर नदी के मुहाने के पास फुलर्टन होटल में उनका खर्च कोई अन्य देश उठाए। इस होटल में एक प्रेजिडेंशियल सुइट की कीमत प्रतिरात 6,000 डॉलर से अधिक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here