13 साल से इंतजार कर रही सेना को मिली अधूरी खुशी, आड़े आ गया बजट

0
98

भारतीय सेना की ताकत को बजट में कमी के चलते गहरा धक्का लगा है। भारतीय सेना ने हाल ही में ढाई लाख असाल्ट राइफल्स का ऑर्डर किया है। जो कि जरूरत के हिसाब से एक तिहाई है। मामले से जुड़े एक व्यक्ति ने बताया कि बजट में कमी के चलते अभी सिर्फ ढाई लाख असाल्ट राइफल्स ही सेना के लिए खरीदी जा सकेंगी।
13 लाख संख्याबल वाली भारतीय सेना को वर्तमान में आठ लाख असाल्ट राइफलों की जरूरत है जिसकी कीमत तकरीबन 2.5 अरब डॉलर होगी। याद दिला दें कि सेना पिछले 13 साल से असाल्ट राइफल्स की मांग करती आ रही है।बताते चलें कि इससे पहले फरवरी माह में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने सेना के तीनों अंगों के लिए 12,280 करोड़ रुपये की लागत से 7.40 लाख असाल्ट राइफलें खरीदने की मंजूरी दी थी। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में रक्षा खरीद परिषद (डीएसी) की बैठक में यह फैसला लिया गया था।आर्मी चीफ बिपिन रावत ने भी कहा था कि सीमा पर तैनात जवान पुराने हथियारों और तकनीकों के दम पर नहीं लड़ सकते। रावत ने उस वक्त कहा था कि ‘जवानों को हाई टेक तकनीक से लैस राइफल मुहैया कराई जाएंगी। सीमा पर तैनात सैनिकों के लिए हाई-टेक तकनीक का इस्तेमाल समय की जरूरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here