Bihar Board 12th Result 2018: पिछले साल की तुलना में बेहतर रहा परिणाम, देखे डिटेल

0
277

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने इंटर परीक्षा का रिजल्‍ट घोषित कर दिया है। इस बार 52.95 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं। फेल छात्रों के लिए कंपार्टमेंटल परीक्षा का समय भी जारी कर दिया गय
पटना । बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा इंटर परीक्षा 2108 का रिजल्‍ट जारी कर दिया गया है। शिक्षा मंत्री कृष्‍णनंदन वर्मा और बोर्ड अध्‍यक्ष आनंद किशोर ने यह रिजल्‍ट जारी किया है। इस बार कुल 52.95 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं। पिछले साल की तुलना में परिणाम अच्‍छे हैं।साइंस स्ट्रीम से 53 फीसद, कॉमर्स में 91.32 फीसद और आर्ट्स में 61.32 फीसद छात्रों ने सफलता पाई है। वहीं, करीब 46 प्रतिशत परीक्षार्थी असफल हो गए। कई परीक्षार्थी अपने परिणाम से संतुष्‍ट नहीं हैं। इन परीक्षार्थियों के लिए बोर्ड ने स्‍क्रूटनी और कंपार्टमेेंटल परीक्षा की तिथि जारी कर दी है।बोर्ड अध्‍यक्ष अानंद किशोर ने बताया कि जो परीक्षार्थी अपने परिणाम से संतुष्‍ट नहीं हैं, वे स्‍क्रूटनी के लिए आवेदन कर सकते हैं। 13 जून से 20 जून तक स्‍क्रूटनी की तिथि है। इसके लिए 70 रुपये शुल्‍क अदा करना होगा। वहीं, जुलाई में कंपार्टमेंटल परीक्षा होगी और अगस्‍त में रिजल्‍ट जारी किया जायेगा।इस साल कुल 1207975 परीक्षार्थियों ने परीक्षा में शामिल होने के लिए फार्म भरा। इनमें महिलाओं की संख्‍या 486588 (40.28 फीसद) और पुरूषों की संख्‍या 721387 (59.72 फीसद) रही। 15922 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल नहीं हुए। 1192053 परीक्षार्थी परीक्षा देने आये, जिनमें 1009 को कदाचार करते हुए पकड़े जाने पर एक्‍सपेल्‍ड कर दिया गया।परीक्षा परिणाम की बात करें तो यह पिछले साल से काफी बेहतर रहा है। इस बार कुल 631241 (52.95 फीसद) परीक्षार्थी सफल हुए। इनमें प्रथम 92726 (7.78 फीसद) प्रथम श्रेणी से, 438738 (36.81फीसद) द्वितीय श्रेणी से और 99395 (8.34 फीसद) तृतीय श्रेण से पास हुए।वहीं, पिछले साल इंटर में ओवरऑल 35 फीसद रिजल्ट रहा था। आर्ट्स में 37.13 फीसद परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए थे। 5,33,915 में 1,24,389 छात्रा और 73,861 छात्र उत्तीर्ण हुए थे। साइंस में 6,46,231 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। इसमें 1,42,445 छात्र और 52,147 छात्रा उत्तीर्ण हुई थीं। कॉमर्स का रिजल्ट सबसे बेहतर रहा था। 73.76 फीसद परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए थे। परीक्षा में 60,022 विद्यार्थी शामिल हुए थे। इसमें 28,317 छात्र और 15,956 छात्राओं को सफलता मिली थी।
फर्स्‍ट डिविजन इतना भी नहीं हुए थे पास
साइंस संकाय में 2015 में 6,24,662 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। 89.32 फीसद उत्तीर्ण हुए थे, जिसमें 49.17 फीसद प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण हुए थे। 2016 में 5,50,569 परीक्षा में शामिल हुए थे। इसमें 67.06 फीसद उत्तीर्ण तथा 21.75 फीसद प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण हुए थे। 2017 में 6,46,231 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। जिसमें 30.11 फीसद उत्तीर्ण तथा 8.93 फीसद ने प्रथम श्रेणी प्राप्त किया था। वाणिज्य संकाय में 2015 में 90.55 तथा 2016 में 80.87 फीसद परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए थे। इसमें से क्रमश: 31.79 और 23.78 फीसद प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण हुए थे। 2017 में 16.29 फीसद प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण हुए थे।
साइंस संकाय में सबसे अधिक परीक्षार्थी
इंटर वार्षिक परीक्षा-2018 में शामिल होने के लिए 12,07,986 छात्र-छात्राओं ने रजिस्ट्रेशन कराया था। इसमें कला संकाय में 4,55,971, साइंस में 6,99,851, कॉमर्स में 51,325 तथा वाकेशनल में 831 परीक्षार्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। इस बार की परीक्षा नए पैटर्न से छह से 16 फरवरी तक सूबे के 1384 केंद्रों पर ली गई थी। पटना में 66,419 परीक्षार्थियों के लिए 82 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इस बार 50 फीसद प्रश्न बहुविकल्पीय वस्तुनिष्ठ थे। जिनका जवाब ओएमआर शीट पर देना था। इसके अतिरिक्त 30 फीसद प्रश्न दो-दो अंक के लघु उत्तरीय और 20 फीसद अंक के दीर्घउत्तरीय प्रश्न पूछे गए थे। प्रश्न पत्र वायरल नहीं हो इसके लिए केंद्र पर मौजूद किसी भी अधिकारी और कर्मी को स्मार्ट फोन ले जाने पर पाबंदी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.