FIFA WC 2018:फुटबॉल महाकुंभ में इस बार नहीं दिखेंगी ये 6 बड़ी टीमें

0
286

फीफा विश्व कप 2018 का आयोजन रूस में हो रहा है। 14 जून से शुरू होकर 15 जुलाई तक चलने वाले इस फुटबॉल महाकुंभ में दुनिया की 32 टीमों के बीच कुल 63 मुकाबले खेले जाएंगे। इन मैचों का आयोजन रूस के 11 शहरों के 12 स्टेडियम्स में होगा। टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहीं 32 टीमों को 8 अलग-अलग ग्रुप्स में बांटा गया है। हर एक ग्रुप में से दो टॉप टीमें प्री-क्वॉर्टर फाइनल में पहुंचेंगी और दो टूर्नामेंट से बाहर हो जाएंगी। टूर्नामेंट के पहले मुकाबले में होस्ट देश रूस की टक्कर सऊदी अरब से होगी। लेकिन इस बार विश्व कप में 6 ऐसी बड़ी टीमें भी होंगी, जो खेलते हुए नहीं दिखाई देंगी। ऐसा इसलिए क्योंकि ये 6 टीमें विश्व कप के लिए क्वालीफाई नहीं कर सकीं। आइए हम आपको बातते हैं कौन सी हैं ये 6 टीमें…

FIFA WC 2018:जर्मनी ‘ग्रुप-F’ में है फेवरेट,मेक्सिको किसी से कम नहीं

1. इटली

Italy Failed to Qualify for FIFA WC 2018

चार बार की विश्व चैंपियन इटली की टीम इससे पहले सिर्फ एक बार 1958 में विश्व कप में नहीं खेली थी। इस बार वह ग्रुप जी के क्वालीफायर में स्पेन और स्वीडन से हार गई और विश्व कप 2018 के लिए क्वालीफाई नहीं कर सकी। इस तरह यह इतिहास बन गया कि चार बार फीफा विश्व कप जीतने वाली इटली की टीम 60 साल में सिर्फ दूसरी बार फुटबॉल महाकुंभ के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई। इसके साथ ही गियान लुगी बुफन और डेनियल डी रोसी जैसे स्टार खिलाड़ियों का विश्व कप में खेलकर अपने फुटबॉल करियर का समापन करने का सपना भी अधूरा रह गया।
FIFA WC 2018:’ग्रुप E’ की स्टार टीम ब्राजील खत्म करना चाहेगा 16 साल का सूखा

2. कैमरून

Cameroon Failed to Qualify for FIFA WC 2018

यह सेंट्रल अफ्रीकी देश फुटबॉल की दुनिया में एक दमदार नाम है। साल 1982 में पहली बार वर्ल्ड कप खेलने वाले कैमरून ने कुल 6 बार फुटबॉल के इस सबसे बड़े टूर्नामेंट में हिस्सा लिया। साल 1990 में के विश्व कप में कैमरून ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय किया था, जहां इंग्लैंड के हाथों उसे हार मिली थी। इसके बाद से सिर्फ 2006 के विश्व कप में कैमरून की टीम क्वालीफाई नहीं कर सकी थी। इस बार भी कैमरून के खिलाड़ी विश्व कप में अपना जलवा नहीं बिखेर सकेंगे।
यूरोपियन देश नीदरलैंड विश्व कप जीतने के दावेदारों में से एक टीम थी। साल 1934 में अपना पहला विश्व कप खेलने के बाद से नीदरलैंड ने शानदार प्रदर्शन किया। नीदरलैंड की टीम ने कुल 10 बार विश्व कप में हिस्सा लिया है, जिनमें से तीन बार वह उपविजेता रही और एक बार तीसरे स्थान पर रही। लेकिन, इस बार यह टीम विश्व कप के लिए क्वालीफाई नहीं कर सकी। नीदरलैंड की टीम पिछले यूरो कप के लिए भी क्वालीफाई नहीं कर पाई थी। इस बार विश्व कप में पहुंचने के लिए नीदरलैंड की टीम को स्वीडन के खिलाफ 7 गोल के अंतर से जीत दर्ज करना था, लेकिन अर्जन रॉबेन के शानदार प्रयास (2 गोल) के बावजूद वह ऐसा नहीं कर पाई।
अमेरिका की फुटबॉल टीम कोई बहुत खतरनाक नहीं है, लेकिन इस टीम ने 1990 के बाद से लगातार 5 विश्व कप में हिस्सा लिया। अमेरिका ने 1994 में विश्व कप की मेजबानी की थी, जिसमें वो आखिरी 16 तक पहुंचे और ब्राजील से हारकर बाहर हुए। अमेरिका की टीम 2002 विश्व कप में क्वार्टर फाइनल तक पहुंची थी, जहां उन्हें जर्मनी से हार का सामना करना पड़ा। साल 2009 कंफेडरेशन कप का फाइनल खेलने वाली अमेरिकी टीम रूस में होने जा रहे फुटबॉल विश्व कप 2018 के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई।साल 2015 और 2016 में ब्राजील, अर्जेंटीना और मैक्सिको जैसी टीमों को हराकर साउथ अमेरिकन चैंपियन बनने वाली चिली की टीम 2018 विश्व कप के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाएगी, ये किसी ने नहीं सोचा था। दक्षिण अमेरीका के इस छोटे से देश का फीफा विश्व कप में बहुत अच्छा इतिहास रहा है। चिली ने 1930 में खेले गए पहले विश्व कप से अपना डेब्यू किया था। साल 1934 और 1938 के विश्व कप में चिली की टीम नहीं खेली और फिर 1950 में शानदार वापसी की। चिली का विश्व में सबसे अच्छा प्रदर्शन 1962 में रहा, जब वह तीसरे स्थान पर रहे। इस बार चिली को अपने चिर प्रतिद्वंदी ब्राजील के खिलाफ क्वालीफायर में 3-0 से हार मिली। जिसके बाद विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने की उसकी उम्मीद खत्म हो गई।पहली बार साल 2006 में जर्मनी में हुए विश्व कप में खेलने के बाद घाना की टीम ने साल 2010 और 2014 के विश्व कप में हिस्सा लिया। घाना की टीम ने 2010 में दक्षिण अफ्रीका में आयेाजित हुए 19वें फुटबॉल विश्व कप में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय किया। क्वार्टरफाइनल मुकाबले में घाना को उरुग्वे के हाथों पेनल्टी शूटआॅउट में 4-2 से हार कर टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा। साल 2014 में ब्राजील में हुए 20वें फुटबॉल विश्व कप में घाना की टीम कुछ खास कमाल नहीं कर पाई और ग्रुप स्टेज से बाहर हो गई। इस बार रूस में होने वाले 21वें फुटबॉल विश्व कप के लिए घाना की टीम क्वालीफाई नहीं कर सकी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here