कर्नाटक में रजनीकांत के ‘काला’ का विरोध क्यों, जानिए वजह

0
54

रजनीकांत की फिल्म ‘काला’ के विरोध को कारण उनका कावेरी जल विवाद पर दिया गया एक बयान है। रजनीकांत ने कहा था कि कर्नाटक को कावेरी से तमिलनाडु के हिस्से का पानी छोड़ना चाहिए। इस बयान की कर्नाटक के मुख्यमंत्री समेत वहां के लोगों ने आलोचना की थी। कावेरी मुद्दे पर रजनीकांत की टिप्पणी से नाराज होकर ‘कर्नाटक फिल्म चैंबर्स ऑफ कॉमर्स’ ने ‘काला’को प्रदर्शित करने की अनुमति ना देने का 29 मई को फैसला किया था। राज्य फिल्म फेटरनिटी से जुड़े कुछ लोगों का कहना है कि रजनीकांत के बयान से वे बुरी तरह आहत हुए हैं।
निर्माता हाईकोर्ट पहुंचे
काला फिल्म के निर्माता के. धनुष और उनकी पत्नी ऐश्वर्या ने कर्नाटक हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल कर अनुरोध किया है कि राज्य सरकार और कर्नाटक फिल्म चेंबर ऑफ कॉमर्स (केएफसीसी) को फिल्म को सुचारू रूप से रिलीज करने के निर्देश दिए जाएं।
कुमारस्वामी कर चुके हैं फिल्म रिलीज न करने का आग्रह
कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने पांच जून को वितरकों से कहा था कि वह कर्नाटकवासी होने के नाते वितरकों से अपील करते हैं कि इस तरह के माहौल में रजनीकांत की फिल्म ‘काला’ रिलीज न करें लेकिन एक मुख्यमंत्री के तौर पर वह खुद उच्च न्यायालय के आदेश का पालन इस मुद्दे पर करेंगे। साथ ही कहा था कि राज्य सरकार के रूप में मुझे उच्च न्यायालय के निर्देशों का पालन करना होगा और इसका ध्यान रखूंगा। यह मेरी जिम्मेदारी भी है। हमें उच्च न्यायालय के निर्देशों का पालन करना होगा।
फिल्म की कहानी पर भी विवाद
प्रसिद्ध समाजसेवी एस तिराविम के छोटे बेटे जवाहर नडार, जो पेशे से एक पत्रकार हैं उन्होंने रजनीकांत के खिलाफ केस दर्ज कराया है। उनका कहना है कि फिल्म उनके पिता पर बेस्ड है, क्योंकि उनके पिता 50 के दशक में तमिलनाडु से मुंबई गए ऐसे शख्स थे जो अपने सामाजिक कार्यों को लेकर आज तक लगभग पूजे जाते हैं। उनकी आज भी अपने समाज में काफी मान-प्रतिष्ठा है, जिसे फिल्म में गलत तरीके से पेश किया है।
हाजी मस्तान के करीबी भी दे चुके हैं चेतावनी
वहीं, कहा जाता है कि हाजी मस्तान के करीबी लोग भी फिल्म को लेकर मेकर्स के पास पहले ही खबर पहुंचा चुके हैं कि अगर फिल्म में उन्हें लेकर कुछ गलत कहा गया है तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहें। दरअसल हाजी मस्तान और एस तिराविम करीबी बताए जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here