दोस्त के भरोसे को दोस्त ने किया तार-तार, बेटी को बना डाला हवस का शिकार

0
78

एक दोस्त ने अपने दोस्त का भरोसा तोड़ते हुए उसकी बेटी के साथ ही दुष्कर्म किया। लोगों को इसपर विश्वास नहीं हुआ लेकिन उसने खुद स्वीकारा, जिसके बाद उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।
पटना । जिसे वह पिता समान समझती थी उसी ने उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। एक दोस्त ने ही नींबू-पानी में नशे की दवा मिलाकर अपने दोस्त की बेटी को पिला दिया और जब वह बेहोश हो गई तो उसके साथ मुंह काला किया। जब सुबह वह होश में आई तो अपने कपड़ों को अस्त-व्यस्त देखकर उसने पूछा तो आरोपी ने स्वीकार कर लिया।रिश्तों को शर्मसार करनेवाली घटना पटना की है जहां अपने ही दोस्त की बेटी से मेडिकल की तैयारी करनेवाली छात्रा (21 वर्ष) के साथ पिता के दोस्त ने अपने ही घर में दुष्कर्म किया है। दुराचार की यह घटना मंगलवार की रात घटी है।इस घटना से दुखी छात्रा ने अपने घरवालों और पुलिस को जानकारी दी। इसके बाद शास्त्री नगर थाना क्षेत्र के राजवंशी नगर में मौजूद मंडल भवन दिनेश के घर पुलिस पहुंची। पुलिस ने दिनेश सिंह को गिरफ्तार कर लिया।दरअसल छात्रा के पिता और दिनेश एक साथ पढ़ चुके हैं और दोनों में पारिवारिक रिश्ता है। एक सप्ताह पूर्व लड़की के माता-पिता ने दिनेश को फोन किया था और कुछ दिनों तक बेटी को उसके पास रहने को भेजने की बात कही थी।लड़की की मां का कहना था कि जब तक पटना में उसे किराए का कमरा नहीं मिल जाता है, तब तक उनकी बेटी को वह अपने पास ही रखें, जब डेरा मिल जायेगा, तो वह चली जायेगी। इस पर दिनेश तैयार हो गया था। एक सप्ताह पहले छात्रा दिनेश के घर आयी थी। दिनेश ने उसे अपने मकान में रहने को एक कमरा दिया था।बुधवार की सुबह घटना की जानकारी होने के बाद छात्रा के घरवाले पटना पहुंचे। पीड़िता और घरवालों के बयान पर महिला थाने में केस दर्ज किया गया है।दरअसल दिनेश मकान में अकेला रहता था। उसकी पत्नी की बीमारी के कारण मौत हो चुकी है। एक हफ्ते तक कोई मुश्किल नहीं हुई। मंगलवार की रात छात्रा ने दिनेश को बताया कि उसके सिर में दर्द हो रहा है।इस पर दिनेश नींबू-पानी लाने को अपने रूम में चला गया। कुछ देर बाद नींबू-पानी लेकर आया।छात्रा का आरोप है कि पानी पीने के बाद वह अचेत हो गयी। आशंका है कि नींबू-पानी में नशीला पदार्थ मिलाया गया था। अचेत होने के बाद दिनेश ने छात्रा के साथ दुष्कर्म किया। होश आने के बाद छात्रा ने देखा कि उसका कपड़ा अस्त-व्यस्त है।इसके बाद उसने शोर मचाना शुरू किया और फिर मामला थाने पहुंचा। जब इसकी जानकारी छात्रा ने रोते हुए अपने परिजनों को दी, तो वे दंग रह गये। लड़की की मां तो बेहोश हो गयी। सभी लोग आनन-फानन में पटना आये। मां का कहना है कि काफी भरोसे के साथ बेटी को भेजा था। लेकिन, यकीन नहीं हो रहा है कि उन्होंने इस तरह से बेटी की इज्जत पर हाथ डाला है। उन्होंने कड़ी सजा दिलाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here