नागपुरः पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आज आरएसएस के कार्यक्रम को संबोधित करेंगे, अहमद पटेल बोले- आपसे ये उम्मीद न थी

0
107

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आज नागपुर में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए वह बुधवार को नागपुर पहुंचे। मुखर्जी रेशिमबाग स्थित आरएसएस मुख्यालय में आरएसएस के तृतीय वर्ष के प्रशिक्षण शिविर (संघ शिक्षा वर्ग) के समापन समारोह को संबोधित करेंगे।आरएसएस ने अपने इस वार्षिक कार्यक्रम में प्रख्यात व्यक्तियों को आमंत्रित करने की परंपरा के तहत मुखर्जी को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया है। पूर्व राष्ट्रपति कार्यक्रम में भावी आरएसएस प्रचारकों को राष्ट्रवाद पर व्याख्यान देंगे। आरएसएस के प्रशिक्षण शिविर में देशभर के लगभग 700 स्वयंसेवक भाग लेंगे।
बुधवार को नागपुर पहुंचे प्रणब दा
इस समारोह में शिरकत करने के लिए प्रणब मुखर्जी गुरुवार को नागपुर पहुंचे। उनके नागपुर पहुंचने पर बड़ी संख्‍या में संघ कार्यकर्ता भी नागपुर एयरपोर्ट पहुंचे, जहां संघ के सह सर कार्यवाह वी भगैय्या और नागपुर शहर इकाई के अध्यक्ष राजेश लोया ने फूलों का गुलस्‍ता देकर उनका स्‍वागत किया।
प्रणब मुखर्जी के नागपुर जाने पर बेटी शर्मिष्ठा ने भी उठाए सवाल
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल होने को लेकर कई कांग्रेस नेताओं के बयान के बाद अब उनके परिजन ने ही इस पर सवाल उठा दिये हैं। प्रणब की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने आज कहा कि उनके पिता नागपुर जाकर ‘भाजपा एवं आरएसएस को फर्जी खबरें गढ़ने और अफवाहें फैलाने की सुविधा मुहैया करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनके ”भाषण तो भुला दिए जाएंगे, लेकिन तस्वीरें (विजुअल्स) रह जाएंगी।
प्रणब मुखर्जी के नागपुर जाने पर बेटी शर्मिष्ठा ने भी उठाए सवाल
शर्मिष्ठा ने कहा कि आप नागपुर जाकर भाजपा/आरएसएस को फर्जी खबरें गढ़ने, अफवाहें फैलाने और इनको किसी न किसी तरह विश्वसनीय बनाने की सुविधा मुहैया करा रहे हैं। और यह तो सिर्फ शुरुआत भर है। प्रणब को आरएसएस के स्वयंसेवकों के लिए आयोजित संघ शिक्षा वर्ग के दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया है।
अहमद पटेल बोले- आपसे ये उम्मीद न थी
कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल ने प्रणब मुखर्जी के संघ के समारोह में जाने को लेकर कहा कि ‘मैंने प्रणब दा से इसकी उम्मीद नहीं की थी!’शर्मिष्ठा से पहले संदीप दीक्षित, सीके जाफर शरीफ और कांग्रेस के कई अन्य नेता पूर्व राष्ट्रपति के इस कदम पर सवाल खड़े कर चुके हैं। हालांकि कांग्रेस पार्टी ने इस बारे में आधिकारिक तौर पर कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की है।दिल्ली कांग्रेस के प्रमुख अजय माकन ने भी इन बातों को खारिज करते हुए कहा कि शर्मिष्ठा समर्पित कांग्रेस सदस्य हैं। माकन ने ट्वीट किया कि कुछ अफवाहों के जवाब में – शर्मिष्ठा से अभी बात हुई – वह एक समर्पित कांग्रेस सदस्य हैं और कांग्रेस की विचारधारा में पूरा यकीन करती है। उन्होंने मुझे बताया कि वह राजनीति में सिर्फ इसलिए हैं क्योंकि कांग्रेस पार्टी की विचारधारा में उनका पूरा विश्वास है।गौरतलब है कि आरएसएस के निमंत्रण को स्वीकार किए जाने पर कांग्रेस के एक धड़े ने इसका विरोध किया था। लेकिन आरएसएस और भाजपा ने इसके लिए उनकी सराहना की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here