कूड़ा जलाने से बदरंग हो रहा है ताजमहल, पर्यटन मंत्री ने दिए ये निर्देश

0
170

ताजमहल को प्रदूषण से ब‌चाने के लिए भले लाख कवायद हो, लेकिन शहर में कूड़े के जलने पर अभी तक प्रशासन अंकुश नहीं लगा पाया है। इसके कारण भी ताजमहल बदरंग हो रहा है। इस बात को स्वयं मंडलायुक्त के. राममोहन राव ने स्वीकार किया है। इससे पहले केंद्रीय पर्यटन राज्यमंत्री डॉ. महेश शर्मा ने भी कूड़ा जलने पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश दे चुके हैं। अब मंडलायुक्त ने कूड़ा जलता पाए जाने पर संबंधित विभागों के अफसरों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।ताजमहल के पीले और काले पड़ने को लेकर उच्चस्तर पर मंथन चल रहा है। आईआईटी कानपुर में इस पर अध्ययन हो रहा है। केंद्र सरकार से लेकर अन्य विभाग भी इस बात को पता करने में लगे हैं कि किस कारण से ऐसा हो रहा है। अभी तक आए परिणामों में प्रदूषण को ताज के लिए बड़ा खतरा माना जा रहा है। इधर, मंडलायुक्त राव ने माना कि कूड़ा जलना हानिकारक है। इससे ताजमहल का रंग भी बदरंग हो रहा है। केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. महेश शर्मा कई बार कूड़ा जलने से ताजमहल को होने वाले नुकसान से आगाह कर चुके हैं। यही नहीं राष्ट्रीय पर्यावरण यांत्रिकी शोध संस्थान (नीरी) की टीम ने भी अपने अध्ययन में जलते कूड़े से निकलने वाले धुएं को ताजमहल के लिए हानिकारक माना था।अब शहर ही नहीं पूरे ताज संरक्षित क्षेत्र में कूड़ा जलाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाए जाने की तैयारी है। मंडलायुक्त इसको लेकर खासे नाराज हैं। उन्होंने संबंधित विभागों को कूड़ा जलाए जाने पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। स्पष्ट रूप से कह दिया कि ताज को बचाने के लिए कूड़े को जलने से बचाना है। इसका सही तरह से निस्तारण कराया जाना ही जरूरी है। मंडलायुक्त ने बताया कि टीटीजेड के अंतर्गत आने वाले सभी छह जिलों में कूड़ा जलने से रोकने के लिए बड़े पैमाने पर अभियान चलाया जाएगा। ताजमहल के आसपास गंदगी के कारण सैलानियों को खासी परेशानी होती है। भले ही इस क्षेत्र में रोज सफाई होती हो, लेकिन कहीं न कहीं गंदगी बिखरी मिलने से बदनामी हो रही है। इसके लिए मंडलायुक्त ने पर्यटन विभाग को जिम्मेदारी सौंपते हुए हर सप्ताह रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। ताज के पश्चिमी गेट पार्किंग और शिल्पग्राम की तरफ सड़क किनारे ही कूड़ा करकट मिल जाता है। इस तरह के दृश्य देखने के बाद विदेशी सैलानी इसे अपने कैमरों में कैद कर लेते हैं। बाद में इन फोटो को शेयर भी करते हैं।मंडलायुक्त ने इसे गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा कि ताजमहल के आसपास उच्चकोटि की सफाई के निर्देश दिए गए हैं। इसका अलग से ठेका भी है। उसके बाद भी यहां सफाई व्यवस्था उच्चस्तरीय नहीं दिखाई देती। उन्होंने उपनिदेशक पर्यटन अमित श्रीवास्तव को जिम्मेदारी सौंपते हुए निर्देश दिए कि वह अपनी टीम लगाकर इस क्षेत्र का निरीक्षण कराएं और हर सप्ताह की रिपोर्ट भी दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here