कुशवाहा का बड़ा बयान- अमित शाह भी NDA के भोज में शामिल नहीं हुए, क्‍यों नहीं उठ रहे सवाल

0
32

रालोसपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने एनडीए के भोज में शामिल न होने पर कहा कि अमित शाह भी नहीं आये। लेकिन उनपर सवाल नहीं उठा रहा है।
पटना । रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने भाजपा के भोज के बाद उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की इफ्तार पार्टी में शामिल न होकर राजग में अपनी नाराजगी का इजहार कर दिया। कुशवाहा शुक्रवार की सुबह दिल्ली से पटना पहुंचे और कुछ देर के बाद अपने संसदीय क्षेत्र के लिए रवाना हो गए। पटना एयरपोर्ट पर कुशवाहा ने कहा कि भोज में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी शामिल नहीं हुए, लेकिन उनपर सवाल नहीं उठ रहा है।उन्होंने सुशील कुमार मोदी की इफ्तार पार्टी में शामिल नहीं होने के सवाल पर कहा कि निमंत्रण देर से मिला। संसदीय क्षेत्र में आज का कार्यक्रम पहले से तय था, इसलिए इफ्तार पार्टी में शामिल नहीं सके। उन्होंने कहा कि भोज एवं इफ्तार पार्टी में रालोसपा के अधिकांश वरीय नेता शामिल हुए।
रालोसपा ने दस जून को इफ्तार पार्टी रखी है, जिसमें राजग के सभी घटक दलों को निमंत्रण दिया गया है। कुशवाहा ने कहा कि राजग में किसी तरह का कोई विवाद नहीं है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पूरा विश्वास है।बता दें कि केंद्र में एनडीए सरकार के चार साल पूरे होने पर पटना के ज्ञान भवन में एक भोज का आयोजन किया गया था। भोज में भाग लेने वालों में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान, उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी, भाजपा के बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, राधामोहन सिंह और अश्विनी कुमार चौबे शामिल थे। लेकिन उपेंद्र कुशवाहा यहां नहीं पहुंचे।राजग के वरिष्ठ नेताओं के अनुसार पटना में भोज से पहले उपेंद्र कुशवाहा चाहते थे कि उनसे भाजपा का नेतृत्व बातचीत करे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात कर चुके हैं।अकाली दल से भी उनकी मुलाकात होने वाली है। अमित शाह का उपेंद्र कुशवाहा से नहीं मिलना भी उन्हें नागवार गुजरा है। हालांकि, कुशवाहा ने बिहार भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय को फोन कर भोज में शामिल नहीं होने की जानकारी पहले दे दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here