रिपोर्ट कार्ड में अब छात्रों को स्लो, पुअर और डल नहीं दर्शाया जाएगा

0
46

खराब प्रदर्शन होने पर भी रिपोर्ट कार्ड में कक्षा एक से आठ के छात्रों को कमजोर और सुस्त नहीं दर्शाया जाएगा। साथ ही रिपोर्ट कार्ड में ग्रेड और अंक भी नहीं लिखे जाएंगे। कमतर प्रदर्शन करने वाले छात्रों में हीन भावना नहीं पनपे इसलिए सरकार ने नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं।सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देश में कहा गया है कि रिपोर्ट कार्ड में अब स्लो, पुअर और डल जैसे शब्दों को प्रयोग नहीं किया जाएगा।राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद(एनसीईआरटी) ने इसके तहत एक दस्तावेज तैयार किया है जो कक्षा एक से आठ तक के लिए लागू होगा।अब स्कूलों को छात्रों के रिपोर्ट कार्ड को एक डायरी या लॉग के तौर पर रखना होगा। डायरी से यह पता चलेगा कि छात्रों ने कितना सीखा है।ये बदलाव निरंतर व्यापक बदलाव (सीसीई) की संशोधित नीति का हिस्सा हैं। एनसीईआरटी के निदेशक ऋषिकेश सेनापति ने कहा कि सभी राज्यों के साथ दिशा-निर्देश को साझा कर उनसे प्रतक्रियाएं मांगी गई है।इसके अलावा नीति को अंतिम रूप देने के लिए एक सम्मेलन भी आयोजित किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here