राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर किया हमला, बोले- किसानों की नहीं, उद्योगपतियों की मदद की

0
18

ओबीसी सम्मेलन के जरिए राहुल गांधी का पीएम मोदी पर निशाना, कहा- देश में किसान काम करता है लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके लिए कुछ नहीं किया।
नई दिल्ली । 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस अभी से रणनीतिक तौर पर अपनी पकड़ मजबूत करने की जद्दोजहद में जुट गई है। इस क्रम में कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी सोमवार को तालकटोरा स्‍टेडियम में ओबीसी सम्‍मेलन को संबोधित किया और दलित वोटरों के बाद ओबीसी वोटरों को भी साधने की कोशिश की।
– सम्मेलन में राहुल गांधी ने कहा कि आज से कुछ समय पहले मैंने एक कहानी पढ़ी, जिसमें भारत के फैशन डिजाइनरों ने फ्रांस में अपने कपड़े दिखाए। उस दौरान विदेशी डिजाइनरों ने भारतीयों का मजाक उड़ाया। उन्होंने कहा कि मैं कुछ समय बाद जब फैशन डिजाइनर से मिला तो मैंने कहा बतौर हिंदुस्तानी ये मुझे अच्छा नहीं लगा। राहुल गांधी ने आगे कहा कि उस डिजाइनर ने बताया कि मैं फैशन डिजाइनर नहीं हूं सिर्फ एक दर्जी हूं, जब मैं कपड़े को देखता हूं तो मैं उसे समझ जाता हूं। लेकिन मैं अपने काम को अच्छी तरह से समझता हूं।
– कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हमारे देश में जो व्यक्ति काम करता है उसे रिवॉर्ड नहीं मिलता है।
– पीएम मोदी को निशाने पर लेते हुए उन्होंने कहा कि देश में किसान काम करता है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके लिए कुछ नहीं किया। पीएम ने सिर्फ 15 उद्योगपतियों का 2.5 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ कर दिया।
– राहुल ने कहा कि आज दुनिया में जो भी बड़ी कंपनी चल रही है, वो छोटे लोगों ने ही शुरू की थी।
– दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने जैसे बड़े-बड़े वायदे किये। आठ साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी हिंदुस्तान में है। आज प्रधानमंत्री जी रोजगार, स्किल की बात नहीं करते।
– 70 वर्षों तक कांग्रेस पार्टी ओबीसी समुदाय के साथ खड़ी है और आगे भी कांग्रेस पार्टी ओबीसी के अधिकारों के लिए प्रयास जारी रखेगी।
– उन्होंने कहा कि पूरा विपक्ष एक साथ खड़ा है, कुछ ही दिनों में अमित शाह-पीएम मोदी-मोहन भागवत को देश की शक्ति समझ में आ जाएगी।
– राहुल ने कहा आज देश भाजपा और संघ का गुलाम हो गया है।
बता दें कि अब कांग्रेस ‘संविधान बचाओ अभियान’ के तहत दलितों का भरोसा जीतने की कोशिश करने के बाद ओबीसी समाज में पकड़ मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं।कांग्रेस के इस सम्मेलन में देशभर से ओबीसी समुदाय के लोग शामिल हुए। अमूमन ओबीसी कांग्रेस का वोटर नहीं रहा है। यही कारण है कि पार्टी अगले चुनाव से पहले अपने सभी ओबीसी नेताओं को एक साथ जोड़कर ओबीसी मतदातओं पर पकड़ हासिल करना चाहती है। गौरतलब है कि 2019 में भाजपा का विजय रथ रोकने के लिए कांग्रेस और तमाम विपक्षी दलों ने अभी से कमर कस ली है। कांग्रेस एक तरफ विपक्षी दलों को एकजुट करने की रणनीति पर काम कर रही है, तो वहीं दूसरी तरफ पार्टी अपना वोट बैंक को मजबूत करने की कोशिशों में जुटी है।
– किसानों को अपने पक्ष के करने के लिए हाल ही में मंदसौर गोलीकांड की बरसी पर राहुल गांधी ने किसानों को संबोधित किया।
– वहीं, 23 अप्रैल को दलित समाज के एक सम्मेलन को भी राहुल ने संबोधित किया था, ताकि दलित वोट बैंक को साध सकें।
कुल मिलाकर अगर समझा जाए तो कांग्रेस 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर फुल एक्शन मोड में हैं। हालांकि ये तो भविष्य ही बताएगा कि कांग्रेस की ये रणनीति उसके लिए कितनी फायदेमंद साबित होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here