मानसून की रफ्तार को लगे ब्रेक, पश्चिम बंगाल पहुंचकर एक सप्ताह के लिए ठिठका

0
131

मानसून के मोर्चे पर एक बुरी खबर है। पश्चिम बंगाल पहुंचकर मानसून की रफ्तार को ब्रेक लग गए हैं। अगले एक हफ्ते तक मानसून अब ठिठका ही रहेगा। मौसम विभाग का कहना है कि मानसून की रफ्तार में इस प्रकार का ब्रेक लगना कोई नई बात नहीं है, न ही उत्तर भारत में मानसून के पहुंचने में इससे कोई देरी होगी। मौसम विभाग के महानिदेशक डा. के. जे. रमेश ने बताया कि ओडिसा और पश्चिम बंगाल पहुंचकर मानसून अब कमजोर पड़ने लगा है। अगले एक सप्ताह तक यह स्थिति बनी रहेगी। इसका मतलब यह है कि एक सप्ताह तक मानसून जहां का तहां रहेगा।पश्चिम बंगाल में मानसून की रफ्तार मद्धिम पड़ गई है, इससे पड़ोसी बिहार और झारखंड में मानसूनी बारिश का इंतजार लंबा हो सकता है। मौसम विभाग की मानें तो अगर बुधवार को दोनों राज्यों में मानसून ने दस्तक नहीं दी, तो लोगों को कम से कम एक हफ्ते और मानसूनी बारिश का इंतजार करना पड़ सकता है। मौसम विभाग के महानिदेशक डॉ. के. जे. रमेश ने मंगलवार को कहा, मानसून के झारखंड और बिहार पहुंचने की संभावना भी कमजोर पड़ गई है। बुधवार को यदि झारखंड, बिहार में मानसून नहीं पहुंचता है, तो फिर इसमें एक सप्ताह का बिलंब हो सकता है।रमेश ने कहा कि मानसून को केरल से दिल्ली पहुंचने में करीब-करीब एक महीने का वक्त लगता है। लेकिन हमेशा यह देखा गया है कि इस सफर में यह कुछ समय के लिए कमजोर पड़ जाता है। ऐसा मानसून को गति देने वाले दबाव क्षेत्र के नहीं बनने की वजह से होता है। मानसून में हुए इस विलंब का असर झारखंड, बिहार के अलावा पूर्वी उत्तर प्रदेश में पड़ेगा। लेकिन एक सप्ताह के बाद जैसे ही मानसून रफ्तार पकड़ेगा फिर से यह बाकी इलाकों को कवर कर लेगा।उत्तर प्रदेश पर असर-मौसम विभाग के अनुसार उत्तर प्रदेश में 14-15 जून के आसपास पूर्वी उत्तर प्रदेश से मानसून की दस्तक होती है। लेकिन मानसून की गति मद्धिम होने से अब इसमें थोड़ा विलंब होगा। अगले सप्ताह जैसे ही मानसून की गति सामान्य होगी, प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में बारिश की होने लगेगी। अभी तक दिल्ली में मानसून के तय समय से पहले पहुंचने की उम्मीद की जा रही थी। लेकिन इस देरी के बाद स्थितियां बदल सकती हैं। यहां सक्रिय मानसून: नगालैंड,मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश का दौर जारी रहेगा। छत्तीसगढ़, तटीय आंध्र प्रदेश, दक्षिण आतंरिक कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के कई इलाकों में भी बारिश जारी। आज का पूर्वानुमान: तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, केरल, असम, मेघालय,नगालैंड, मिजोरम, मणिपुर, दक्षिण कोंकण, गोवा में मानसून की सक्रियता से बारिश का दौर जारी रहेगा। बिहार, झारखंड और ओडिशा के कई इलाकों में आंधी की आशंका, गरज-चमक के साथ बूंदा-बांदी भी हो सकती। चेतावनी: गोवा, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश के तटीय इलाकों में 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। इसलिए बुधवार को इन इलाकों के मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here