राजस्थान: शाह-वसुंधरा की हुई मुलाकात, प्रदेश अध्यक्ष पर विवाद कायम

0
40

छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश का दौरा करने के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को दिल्ली में राजस्थान के कोर ग्रुप के साथ बैठक में चुनावी रणनीति को लेकर चर्चा की है। बैठक में राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे समेत प्रमुख नेता मौजूद थे। बाद में वसुंधरा राजे ने शाह के साथ लगभग आधा घंटे तक अलग से मुलाकात की। इसके पहले शाह ने आंध्र प्रदेश के कोर ग्रुप के साथ बैठक की।राजस्थान में इस साल के आखिर में मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ के साथ विधानसभा चुनाव होने हैं। तीनों राज्यों में भाजपा की सरकारें होने से यह चुनाव बेहद अहम हैं। मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ में सरकार व संगठन को लेकर केंद्रीय नेतृत्व ने रणनीतिक तैयारी कर ली है, लेकिन राजस्थान में नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर पेंच फंसा हुआ है। यही वजह है कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ जाकर वहां के नेतृत्व व चुनाव प्रबंध समितियों के साथ बैठकें की हैं, लेकिन राजस्थान के कोर ग्रुप को दिल्ली बुलाकर विचार विमर्श किया गया है।सूत्रों के अनुसार नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर मामला अभी भी उलझा हुआ है। सूत्रों के अनुसार वसुंधरा राजे ने अमित शाह से अलग से चर्चा कर नए अध्यक्ष के मुद्दे पर चर्चा की है और कुछ नाम भी सुझाए हैं। बाद में वसुंधरा राजे ने महासचिव भूपेंद्र यादव व अरुण सिंह से भी मुलाकात की है। अध्यक्ष के मुद्दे पर विवाद होने से राज्य की चुनावी तैयारियां प्रभावित हो रही हैं।सूत्रों के अनुसार कोर ग्रुप की बैठक में केंद्रीय नेतृत्व ने वसुंधरा राजे की अगले माह प्रस्तावित यात्रा को हरी झंडी दे दी है। अमित शाह ने राज्य में हर विधानसभा सीट और हर बूथ की रणनीति बनाने को कहा है।आंध्र प्रदेश के साथ कोर ग्रुप में शाह ने राज्य में केंद्र सरकार की उपलब्धियों को ले जाने के लिए रोड मैप पर चर्चा की है। बैठक में तय किया गया है कि राज्य के तीन अलग-अलग क्षेत्रों में तीन केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, प्रकाश जावड़ेकर व पीयूष गोयल दौरा कर केंद्र सरकार की उपलब्धियों का ब्योरा रखेंगे और बताएंगे कि आंध्र प्रदेश को केंद्र ने कितना धन दिया और कितना धन राज्य सरकार ने नहीं लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here