भ्रष्टाचार के मामले तेजस्वी ने पिता को भी पीछे छोड़ा, वह देश के ऐसे नेता जिनकी सारी संपत्ति जब्त

0
108

उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने तेजस्वी यादव पर आरोप लगाते हुए कहा कि आखिर कैसे वह महज 28 साल की उम्र में बेनामी संपत्ति के मालिक बन बैठे।
पटना । उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के पुत्र और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भ्रष्टाचार मामले में अपने पिता से भी कहीं आगे निकल गए। उन्होंने तेजस्वी यादव को जब्त संपत्ति सरकार को सौंपने की घोषणा करने की नसीहत दी है।सुशील मोदी ने कहा कि तेजस्वी यादव ने महज 28 साल की उम्र में इतनी सारी बेनामी संपत्ति कर ली है जिसका कोई हिसाब नहीं है। तेजस्वी यादव को अपने पिता की छाया से बाहर आकर इन सभी बेनामी संपत्ति को सरकार को सौंपने की घोषणा कर देनी चाहिए। भाजपा नेता ने कहा कि लालू प्रसाद पर तो 50 साल की उम्र में भ्रष्टाचार का आरोप लगा था। लेकिन तेजस्वी तो उनके उस रिकार्ड को भी तोड़ दिया। उन्होंने 28 साल की उम्र में ही 28 से ज्यादा बेनामी संपत्ति हासिल करने के आरोप में घिर चुके हैं। उन्होंने कहा कि शायद तेजस्वी देश के अकेले ऐसा नेता हैं जिनकी इतनी सारी संपति जब्त हो चुकी है।सुशील मोदी ने कहा है कि तेजस्वी यादव को घोषणा करनी चाहिए कि उनको कानून की समझ नहीं थी। उनके पिता ने उन्हें अपने भ्रष्टाचार का साझीदार बना कर उन्हें फंसा दिया है। अब वह अपनी तमाम बेनामी संपत्ति सरकार को वापस कर रहे है, जिससे सरकार वहा अस्पताल, स्कूल, अनाथालय आदि का निर्माण करा सके।सुशील मोदी ने सवालिया लहजे में कहा कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा जब्त संपत्ति के मामले को लेकर अदालत जाने की बात करने वाले तेजस्वी अपनी कुर्सी गंवाने के एक साल बाद भी क्यों नहीं बता पा रहे हैं कि वह पटना की इस कीमती तीन एकड़ जमीन के मालिक आखिर कैसे बने। गौर है कि ईडी ने मंगलवार को अदालत के आदेश के बाद लालू परिवार के निर्माणाधीन मॉल को सील कर दिया। करीब 750 करोड़ रुपए की लागत से 115 कट्ठा जमीन में बन रहा यह मॉल बिहार का सबसे बड़ा मॉल बताया जा रहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here