दाती महाराज पर रेप केसः आज पीड़िता को लेकर राजस्थान के पाली आश्रम जाएगी दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच

0
82

दिल्ली पुलिस की टीम आज पीड़िता को साथ लेकर राजस्थान के पाली आश्रम जा सकती है। पुलिस टीम यहां मुआयना कर पीड़िता द्वारा बताई गई जगहों से सक्ष्यों को जुटाएगी। साथ ही वहां मौजूद लोगों से पूछताछ करेगी। पीड़िता का आरोप है कि 25, 26 और 27 मार्च 2016 को उसके साथ दाती महाराज और उसके सहयोगियों ने यहीं रेप किया था। पुलिस वहां दाती महाराज का भी सुराग तलाशेगी। आपको बता दें कि राजस्थान की निवासी एक पच्चीस वर्षीय युवती ने स्वयंभू बाबा दाती महाराज और उसके चेलों पर उसके साथ बार-बार रेप का आरोप लगाया है।पीड़िता ने बयान में बताया था कि राजस्थान में भी उसके साथ दुष्कर्म हुआ था। ऐसे में पुलिस इस आश्रम में पीड़िता कब और कितने दिन कहां-कहां रही, उसके साथ कौन-कौन मौजूद रहता था, उससे क्या काम कराया जाता था जैसे सवालों के जवाब ढूंढेगी। बाबा द्वारा बच्चियों के लिए चलाए जा रहे आश्रम में रह रही बच्चियों से भी पूछताछ कर सकती है। पीड़िता ने आश्रम में बाकी लोगों के साथ भी इस तरह की वारदात होने की बात कही थी।दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को दाती महाराज के आश्रम में पीड़िता के साथ छापेमारी की थी। इस दौरान पुलिस ने दाती महाराज से जुड़े कुछ सक्ष्य जुटाए हैं। क्राइम ब्रांच के अधिकारियों के मुताबिक दाती महाराज इन कमरों में विश्राम के अलावा मंदिर से जुड़े अन्य अहम काम भी करते थे। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन कमरों से मंदिर के हिसाब किताब से जुड़ी कई फाइलें भी बरामद हुई हैं। गुफानुमा आकृति में बने कमरों में लगी लाइटों पर भी टेप लगी हुई है। इसके अलावा कमरों में दो-दो गेट बने हैं।छापेमारी के दौरान आश्रम पहुंची क्राइम ब्रांच को जांच के दौरान पता चला कि यह दोनों कमरें सिर्फ दाती महाराज के इस्तेमाल के लिए हैं। दाती महाराज यहां विश्राम करते थे। यही वजह है कि ये कमरे आश्रम में कुछ एकांत में बनाए गए हैं।
हालांकि, पुलिस टीम ने इस बात को स्पष्ट किया कि यह कमरे आश्रम में एकांत जगह पर हैं। इनमें गुफा जैसी आकृति भी है, लेकिन गुफा नहीं बनी है। टीम अब जल्द ही दाती महाराज के बाकी ठिकानों पर छापेमारी की तैयारी कर रही है।फतेहपुर बेरी थाना में पीड़िता ने दाती महाराज के खिलाफ तहरीर दी थी कि बाबा ने उनके साथ दो साल पहले दो बार बलात्कार किया। एक बार दिल्ली के फतेहपुर बेरी के अपने आश्रम में और दूसरी बार राजस्थान के पाली जिले में मौजूद आलावास आश्रम में।हर शनिवार बड़ी संख्या में दिल्ली और एनसीआर के लोग शनिधाम में पूजा के लिए आते हैं। बाबा पर दुष्कर्म का आरोप लगने के बाद यह पहला शनिवार है, तो इस बार मंदिर में बिना बाबा के पूजा कैसे होगी यह देखने वाली बात होगी। साथ ही पुलिस भी शनिवार सुबह से मंदिर पर नजर बनाए रखी है।वह करीब दो साल पहले आश्रम से भाग गई थी और लंबे समय से अवसाद में थी। अवसाद से उबरकर उसने अपने माता-पिता को पूरी बात बताई और उनके साथ पुलिस को शिकायत दी है।दूसरी तरफ रेप का आरोप लगने के बाद से फरार चल रहे स्वयंभू बाबा दाती महाराज ने कहा है कि जो भी आरोप लगे हैं वो आपके सामने हैं। मैं उस बिटिया पर आरोप नहीं लगाऊंगा। वो मेरी बेटी है और मैंने गलती की है तो पुलिस जांच करेगी और जांच में सहयोग के लिए पूरी तरह से तैयार हूं। इससे पहले दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने भी पीड़ित लड़की से मुलाकात की थी और उसे पुलिस संरक्षण मुहैया कराए जाने की मांग की थी। इसके साथ ही उन्होंने दाती महाराज को तत्काल गिरफ्तार किए जाने की भी मांग की थी।क्राइम ब्रांच की टीम ने शुक्रवार को दाती महाराज के आश्रम में छापा मारा। इस दौरान आश्रम जुड़े 50 सेवादारों से करीब सात घंटे तक पूछताछ की गई। जांच से जुड़े वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक सेवादारों से आश्रम संचालन सहित वहां आने और रहने वाले लोगों और दाती महाराज की दिनचर्या के बारे में जानकारी ली गई।आश्रम में लगातार दूसरे दिन हुई छापेमारी के दौरान क्राइम ब्रांच की 15 पुलिसकर्मियों टीम गई थी। टीम ने करीब चार घंटे की तलाशी के दौरान आश्रम में बने चेंजिंग रूम की तलाशी लेने के साथ वहां लगे सीसीटीवी कैमरों की डीवीआर जब्त की है। आश्रम में शुक्रवार को पहुंची जांच टीम के साथ पीड़िता मौजूद नहीं थी। तलाशी के दौरान पुलिस टीम दाती महाराज द्वारा भविष्यवाणी करने व भक्तिमय कार्यक्रम के दौरान जहां स्टेज शो किया जाता था, उस जगह तक पहुंची। पुलिस ने यहां बने चेंजिंग रूम में को खंगाला। तलाशी के बाद पुलिस की टीम यहां से भी डीवीआर और सीसीटीवी जब्त कर लेकर आई है। आश्रम में मौजूद लोगों से चेंजिंग रूम में किस-किस व्यक्ति की पहुंच है, यह जानने के लिए पूछताछ भी की गई।पुलिस ने पीड़िता द्वारा बताई गई दो जगहों पर मौजूद सीसीटीवी कैमरों का डीवीआर भी जब्त करने की बात कही है। हालांकि, पुलिस का कहना है कि डीवीआर से दो साल पहले की फुटेज मिलना मुश्किल है। इस मामले में विशेषज्ञों से राय ली जाएगी। इसके अलावा पुलिस ने एफआईआर में नामजद आरोपी अर्जुन से पूछताछ की। अर्जुन मंदिर में पूजा का काम देखता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here