ऑपरेशन ऑलआउट-2: बांदीपुरा में दो आतंकी ढेर, बिजबेहारा में सर्च ऑपरेशन जारी

0
270

जम्मू-कश्मीर में सीजफायर खत्म होने के बाद आतंकियों के खिलाफ एक बार फिर सेना का ऑपरेशन शुरू हो गया है. सोमवार सुबह सुरक्षा बलों ने जम्मू-कश्मीर के बिजबेहारा में आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन शुरू किया. सीजफायर खत्म होने के बाद आतंकियों के खिलाफ यह सेना का पहला ऑपरेशन है.

इसके अलावा सोमवार को ही बांदीपुरा में चल रहे ऑपरेशन में सेना ने दो आतंकियों को मार गिराया है. इसी एनकाउंटर में ही सेना ने 14 जून को दो आतंकियों को ढेर किया था. इसमें एक जवान भी शहीद हुआ था. ये ऑपरेशन बांदीपुरा के जंगल इलाके में हुआ है, बताया जा रहा है कि यहां पर लश्कर आतंकियों का एक ग्रुप छुपा हुआ है.

सेना ने 12 जून को यहां पर ऑपरेशन शुरू किया था, जिसके बाद 14 जून को दो आतंकियों को मारा था. उसके बाद से ही यहां पर सर्च ऑपरेशन जारी है.

सोमवार को सुरक्षा बलों को बिजबेहारा इलाके में आतंकियों के मौजूद होने की खबर मिली. इसके बाद सुरक्षा बलों ने इलाके को घेर लिया और सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया. 16 मई को केंद्र सरकार ने कश्मीर में रमजान के महीने में शांति की पहल को बढ़ावा देने के लिए ऑपरेशन को निलंबित रखने का आदेश दिया था.

ईद के बाद सरकार ने इसे हटा लिया है और सुरक्षाबलों को फिर से आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन ऑलआउट शुरू करने का निर्देश दिया है. आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने बिजबेहारा में पहला ऑपरेशन शुरू किया.

रविवार को केंद्र सरकार ने रमज़ान का पाक महीना खत्म होने के साथ ही जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों के ऑपरेशन पर लगी पाबंदी को हटा दिया था. गृह मंत्रालय ने शांति के मकसद से रमजान के महीने में सीजफायर लागू किया था, लेकिन आतंकियों ने अपने नापाक मंसूबों से इस पर पानी फेर दिया.

पिछले कुछ दिनों में जिस तरह से घाटी में परिस्थितियां बनी हैं, उनसे पार पाना आसान नहीं होगा. सेना के लिए आने वाले दिनों में अब तीन मोर्चों पर खुद को मजबूती से पेश करना होगा.

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने आतंकियों द्वारा जारी हिंसा के बीच रविवार को जम्मू एवं कश्मीर में घोषित एकतरफा संघर्षविराम को विस्तार न देने का फैसला किया है. यह संघर्षविराम रमजान के पाक महीने के दौरान राज्य में 16 मई को घोषित किया गया था. बता दें कि 17 मई से 14 जून के बीच जम्मू-कश्मीर में कुल 62 आतंकी घटनाएं हुईं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.