नीरव मोदी के पास कम से कम 6 भारतीय पासपोर्ट, दर्ज हो सकती है नई FIR

0
71

जांच एजेंसियों को पता चला है कि दो अरब डॉलर के पीएनबी घोटाले के आरोपी हीरा कारोबारी नीरव मोदी के पास आधा दर्जन पासपोर्ट हैं। इस मामले में नई FIR दर्ज करने की तैयारी है। भारत की एजेंसियों को पता चला था कि नीरव बेल्जियम में है। वहां उसका पासपोर्ट रद्द किया गया, बावजूद इसके यात्राएं जारी रहीं। इसके बाद उसके पास 6 पासपोर्ट होने का पता चला है जिनमें से 2 कुछ समय के लिए ऐक्टिव थे। सूत्रों का कहना है कि बाकी 4 पासपोर्ट अभी ऐक्टिव नहीं हैं।

एक पासपोर्ट पर नीरव का पूरा नाम है, वहीं दूसरे पर केवल पहला नाम है। इसपर 40 महीनों के लिए यूके का वीजा भी जारी किया गया है। सवाल यह है कि सरकार द्वारा इसी साल पासपोर्ट रद्द किए जाने के बावजूद वह एक देश से दूसरे देश के चक्कर कैसे लगा रहा है। बाद में उसका दूसरा पासपोर्ट भी रद्द किया गया था। सूत्रों का कहना है कि विदेश मंत्रालय ने इंटरपोल को पासपोर्ट रद्द करने की जानकारी दी थी। लेकिन माना जा रहा है कि अलग-अलग देशों में समान व्यवस्था न होने की वजह से उनसे रोका नहीं जा सका और वह समुद्री रास्ते से एक देश से दूसरे देश की यात्रा कर रहा है।

इंटरपोल से नीरव मोदी के अरेस्ट वॉरंट की मांग कर रही जांच एजेंसियों के ऐप्लिकेशन में भी पासपोर्ट रद्द करने के आदेश की कॉपी लगाई गई है। एक से ज्यादा पासपोर्ट का इस्तेमाल करना जुर्म है। मामले से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘यह एक अपराध है और आंतरिक जांच पूरी होने के बाद नीरव मोदी पर नई एफआईआर फाइल की जाएगी।’ उन्होंने बताया कि इस बात की भी जांच की जा रही है कि नीरव मोदी किसी दूसरे देश द्वारा जारी पासपोर्ट का तो इस्तेमाल नहीं कर रहा था।

बता दें कि नीरव मोदी पर भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग के केसों के चलते सीबीआई और ईडी ने इंटरपोल से उनके खिलाफ अरेस्ट वॉरंट जारी करने की दरख्वास्त की थी। सूत्रों का कहना है कि अगर एक बार नीरव मोदी की स्थिति का पता चल जाता है तो सरकार प्रत्यर्पण के लिए प्रयास कर सकती है। पिछले महीने उनके परिवार के पास 8000 करोड़ की संपत्ति होने का पता चला था। इस आधार पर ईडी मुंबई की अदालत से उन्हें ‘भगोड़ा’ घोषित करने की भी मांग करेगी। पंजाब नैशनल बैंक की तरफ से 13,000 करोड़ की धोखाधड़ी की शिकायत मिलने के बाद एजेंसियां नीरव मोदी और मेहुल चौकसी समेत अन्य की जांच कर रही हैं। इस मामले में सीबीआई ने दोनों के खिलाफ दो FIR दर्ज की हैं। बताया जा रहा है कि केस दर्ज होने से पहले ही दोनों आरोपियों ने देश छोड़ दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here