दिल्ली: एलजी ऑफिस में नौ दिन से धरने पर बैठे CM केजरीवाल ने खत्म की हड़ताल

0
41

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एलजी अनिल बैजल के ऑफिस जारी हड़ताल को खत्म कर दिया है। केजरीवाल और उनके मंत्री अपनी मांगों के समर्थन में 11 जून की शाम से उपराज्यपाल अनिल बैजल के कार्यालय में धरना दे रहे हैं। इनकी मांगों में आईएएस अधिकारियों को अपनी हड़ताल खत्म करने का निर्देश देने और काम रोकने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी शामिल है। वहीं उपराज्यपाल कार्यालय के अनुसार, दिल्ली के उपराज्यपाल ने केजरीवाल को पत्र लिखकर उनसे अधिकारियों से तत्काल मिलकर बातचीत के जरिये दोनों पक्षों की चिंताओं पर गौर करने को कहा है।इस हड़ताल में शामिल दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को आज एलएनजेपी अस्पताल से छुट्टी मिल गई। दोनों मंत्री उप राज्यपाल कार्यालय में अनशन पर बैठे थे और सेहत खराब होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।मूत्र में कीटोन का स्तर तेजी से बढ़ने और रक्त शर्करा का स्तर घटने के बाद सिसोदिया को कल दोपहर करीब तीन बजे एलएनजेपी अस्पताल ले जाया गया। जबकि जैन की सेहत खराब होने के बाद उन्हें रविवार रात एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों ने कहा कि मुख्य सचिव के साथ कथित हाथापाई के बाद शुरू हुए गतिरोध को समाप्त करने के लिए सीएम केजरीवाल के साथ सचिवालय में बैठक के लिए उन्हें औपचारिक निमंत्रण का इंतजार है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने उपराज्यपाल अनिल बैजल से सरकार और नौकरशाहों के साथ बैठक कराने का अनुरोध किया था जिसके बाद आईएसएस अधिकारियों की ओर से यह बयान आया है।आईएएस एजीएमयूटी संगठन ने कहा कि नौकरशाहों की सुरक्षा और गरिमा सुनिश्चित करने का मुख्यमंत्री का आश्वासन मिलने के बाद अधिकारी बैठक के लिए औपचारिक संदेश मिलने का इंतजार कर रहे हैं। हालांकि सूत्रों ने कहा कि बैजल बैठक का आयोजन नहीं कराएंगे क्योंकि एलजी कार्यालय पहले ही आप सरकार से अधिकारियों के साथ बैठक करने और मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ फरवरी में कथित मारपीट के बाद से चल रहे गतिरोध को समाप्त करने के लिए कह चुका है।दिल्ली में सत्ताधारी आप ने उप राज्यपाल अनिल बैजल पर आरोप लगाया कि वह केंद्र की भाजपा की अगुवाई वाली सरकार के इशारे पर काम कर रहे हैं। साथ ही इस साल की शुरुआत में मुख्य सचिव अंशु प्रकाश पर हुए कथित हमले के बाद पैदा हुए गतिरोध को खत्म करने के लिए अरविंद केजरीवाल सरकार एवं आईएएस अधिकारियों की बैठक नहीं बुला रहे हैं।आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने दावा किया कि आईएएस अधिकारी सरकार से बातचीत करने के लिए तैयार हैं, क्योंकि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उन्हें आश्वस्त किया है कि वह उनकी सुरक्षा एवं संरक्षा सुनिश्चित करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here