‘राजनीतिक व्यक्ति’ को जम्मू कश्मीर का अगला राज्यपाल बनाने के पक्ष में है केन्द्र

0
45

पारंपरिक रीति रिवाजों से हटकर केन्द्र अब जम्मू कश्मीर का अगला राज्यपाल किसी राजनीतिक व्यक्ति को बनाना चाहता है। अब तक वहां पर किसी ऐसे व्यक्ति को राज्यपाल बनाया जाता रहा है जिनकी पृष्ठभूमि मिलिट्री, पुलिस या फिर नौकरशाह की रही हो। ये बात पूरे मामले से वाकिफ सूत्रों ने बताया है।मौजूदा राज्यपाल और पूर्व नौकरशाह एन.एन. वोहरा का कार्यकाल 27 जून को खत्म हो रहा है और उसी उम्मीद है कि वह कम से कम 28 जून से शुरू होकर 26 अगस्त तक चलने वाली अमरनाथ यात्रा तक अपने पद पर बने रहेंगे।उन्होंने बताया कि ऐसे में अगर यहां पर बदलाव होता है तो नई दिल्ली की पहली पसंद वोहरा की जगह पर किसी राजनीतिक व्यक्ति को इस पद पर बैठाने की होगी।जम्मू कश्मीर में पीडीपी की अगुवाई वाली महबूबा मुफ्ती सरकार से करीब 40 महीने पुराना अपना गठबंधन तोड़ते हुए बीजेपी अलग हो गई। जिसके बाद बुधवार को यहां पर राज्यपाल शासन लगा दिया गया है। सूत्रों ने बताया कि ऐसी स्थिति में किसी सैन्य व्यक्ति को संघर्षरत राज्य में अगला राज्यपाल बनाकर नई दिल्ली देश और दुनिया में गलत संदेश भेजने के पक्ष में नहीं है।पंजाब कैडर के 82 वर्षीय एन.एन. वोहरा पिछले अठारह वर्षों के दौरान जम्मू कश्मीर का राज्यपाल बननेवाले ऐसे पहले व्यक्ति थे जिनकी पृष्ठभूमि आर्मी या भारतीय पुलिस सेवा की नहीं थी। उनका नाम इस पद के लिए साल 2008 में बढ़ाया गया था। वोहरा से पहले पूर्व आईएएस ऑफिसर जगमोहन ने बतौर राज्यपाल 1980 के आखिर और फिर दोबारा 1990 में बतौर राज्यपाल अपनी सेवा दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here