PM मोदी ने शिवराज सिंह चौहान की तारीफ, बोले- उनके कार्यकाल में राज्य का विकास हुआ

0
31

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले में मोहनपुरा वृहद सिंचाई परियोजना का लोकार्पण किया। इस मौके पर पीएम ने कहा कि उनका यह सौभाग्य है कि मध्य प्रदेश की जनता के लिए उन्हें यह मौक मिला। इस अवसर पर पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर भी निशाना साधा। इस दौरान पीएम मोदी ने मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में हुए विकास कार्यों का जिक्र करते हुए उनकी सराहना की और कहा कि इसी वजह से यह राज्य ‘बीमारू राज्य’ की श्रेणी से हटकर अग्रिम पंक्ति के राज्यों की श्रेणी में दिखाई देने लगा है।मोदी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के प्रभाव वाले राजगढ़ जिले के मोहनखेड़ा में चार हजार करोड़ रूपयों की लागत वाली मोहनपुरा सिंचाई परियोजना के लोकार्पण समारोह को संबोधित किया। इस मौके पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और राज्य के जल संसाधन मंत्री नरोत्तम मिश्रा समेत अनेक जनप्रतिनिधि मौजूद थे।मोदी ने कहा कि पहले इस राज्य की गिनती बीमारू राज्य की श्रेणी में होती थी। लेकिन तत्कालीन कांग्रेस सरकार के नेताओं को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता था। उन्होंने बीमारू राज्य का तमगा हटाने के लिए कोई कार्य नहीं किए, उल्टे ये नेता अपनी जय जयकार कराने में जुटे रहे। लेकिन डेढ़ दशक पहले राज्य में सत्ता में आयी भाजपा ने विकास के कार्य शुरू किए और अब इस राज्य का विकास स्वयं ही बोलने लगा है।प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के समय राज्य की सिंचाई क्षमता साढ़े सात लाख हेक्टेयर क्षेत्र थी, जो अब बढ़कर चालीस लाख हेक्टेयर क्षेत्र हो गई। सरकार ने इसे अगले सालों में बढ़ाकर दोगुना करने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार चाहती है कि इस लक्ष्य से और आगे बढ़कर कार्य किया जाए और केंद्र सरकार राज्य के साथ कंधे से कंधा मिलाकर साथ चलेगी।मोदी ने कहा कि राज्य में कृषि की विकास दर पिछले पांच सालों से औसतन अठारह प्रतिशत से अधिक बनी हुई है, जो देश में सबसे ज्यादा है। इस सरकार ने अन्य क्षेत्रों में भी कार्य किए हैं। मोहनपुरा सिंचाई परियोजना से मालवांचल के तहत आने वाले राजगढ़ जिले में चार सौ गांवों में घर-घर पानी पहुंचाया जाएगा। गांवों में सिंचाई की सुविधा रहेगी। राज्य सरकार के विकास कार्यों के कारण अब मालवांचल में फिर से पानी और अन्न की कमी नहीं रहेगी।मुख्यमंत्री चौहान ने भी इसके पहले अपने भाषण में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर निशाना साधा और कहा कि वे राजगढ़ संसदीय क्षेत्र से सांसद रहे। इस राज्य के मुख्यमंत्री भी रहे, लेकिन इस जिले के लिए कुछ नहीं किया। मौजूदा राज्य सरकार ने इस जिले के लिए बहुत कुछ दिया है और आगे भी विकास कार्य जारी रहेंगे।दरअसल राज्य में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस वर्ष 2003 से सत्ता से बाहर है और नए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की अगुवाई में कांग्रेस फिर से सत्ता में काबिज होने के लिए पूरी कोशिश कर रही है। वहीं लगातार तीन विधानसभा चुनाव जीतने वाली भाजपा चौथा विधानसभा चुनाव भी लगातार जीतकर एक इतिहास रचना चाहती है। इसके लिए भाजपा मुख्य रूप से साल 1993 से 2003 के दिग्विजय सिंह शासनकाल और दिसंबर 2003 से 2018 तक के भाजपा शासनकाल के कार्यों की तुलना कर रही है। भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व भी मध्यप्रदेश और इसके पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ में आगामी विधानसभा चुनाव में किसी भी कीमत पर विजय बनाने की ठोस रणनीति पर अमल में जुटी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here