INDIAN IDOL 2018: कभी पुलिस कॉन्सटेबल था ये विनर, लोग कहते थे ‘पहाड़ का गौरव’

0
90

छोटे परदे के पॉपुलर सिंगिंग रियलिटी शो इंडियन आइडल का सीजन 10 जल्द ही शुरू होने जा रहा है। ऐसे में हम याद कर रहे हैं अब तक के सीजन्स के उन विनर्स को जिन्होंने इस शो के जरिए एक अलग पहचान बनाई। आज हम बात करेंगे इंडियन आइडल सीजन 3 के विनर प्रशांत तमांग की। जिन्होंने साल 2007 में ये खिताब अपने नाम किया था। लोगों ने उन्हें उस वक्त ‘पहाड़ का गौरव’ (प्राइड ऑफ हिल) का खिताब दिया था। प्रशांत का जन्म 4 जनवरी, 1983 को दार्जिलिंग (वेस्ट बंगाल) में हुआ था। वो मूल रूप से नेपाल के रहने वाले हैं। प्रशांत जब स्कूल में थे तो उनके पिता का निधन हो गया था। जिस वजह से उन्होंने अपना स्कूल छोड़कर कोलकाता पुलिस में कॉन्सटेबल की नौकरी कर ली ताकि अपने परिवार की जिम्मेदारी संभाल सके। उनके परिवार में उनकी दादी, मां और एक बहन हैं। साल 2011 में उन्होंने फ्लाइट अटेंडेंट गीता थापा से शादी की थी। इंडियन आइडल में आने से पहले प्रशांत पुलिस आर्केस्ट्रा में गाते थे। जहां उनकी आवाज से प्रभावित होकर उनके कुछ दोस्तों और सीनियर मिस्टर जुल्फिकार हसन (Special Additional Commissioner of Police) ने उन्हें गाने के लिए प्रेरित किया और इस तरह वो इंडियन आइडल का हिस्सा बनें। इस शो के लिए उनके सीनियर ने उन्हें खासतौर पर छुट्टी भी दिलवाई थी। कोलकाता, सिक्किम, नेपाल और गोरखा में तो उनके लिए वोटिंग होती ही थी। इसके अलावा ब्रूनेई, यूके, हॉन्गकॉन्ग और यूएई जैसे देशों में काम करने वाले नेपाली मूल के लोग उनके नाम पर पैसे भेजते थे ताकि उनके लिए वोटिंग हो सके। इंडियन आइडल का विनर बनने के बाद प्रशांत काफी पॉपुलर हो गए थे। इसके बाद वह वर्ल्ड टूर पर गए। उन्होंने अपनी दो एल्बम भी रिलीज की और करीब आधा दर्जन नेपाली फिल्मों में काम किया। बाद में वह नेपाल और फिर कोलकाता चले गए। तमांग अपनी पत्नी के साथ कुछ वक्त पहले ही दिल्ली शिफ्ट हुए थे। पिछले साल ही प्रशांत ने गोरखालैंड का समर्थन किया था। उनका कहना था कि गोरखा लैंड की मांग करते हुए वह एक गाना लिखने की तैयारियां भी कर रहे हैं और उस गाने को वह खुद ही गाने वाले हैं। प्रशांत तमांग का कहना है कि पहाड़ पर रहने वाले लोगों ने हर कदम पर उनका साथ दिया है। दार्जिलिंग उनकी मातृभूमि है और वो अपनी मातृभूमि पर लाठिया बरसते नहीं देख सकते।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here