बुराड़ी केस : सामने आया CCTV फुटेज, भाटिया परिवार ने ऐसे की थी ‘मौत’ की तैयारी!

0
377

बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 सदस्यों की मौत के मामले में जांच कर रही अपराध शाखा के मुताबिक, सीसीटीवी की फुटेज में भाटिया परिवार के सदस्य मौत का सामान लेकर जाते हुए कैद हुए हैं। फुटेज में टीना और श्वेता दुकान से स्टूल लेकर घर जाते हुए दिखाई दे रही हैं, जबकि इनके बच्चों के हाथ में बिजली के तार थे। जांच में पता चला था कि परिवार ने स्टूल पर चढ़कर फांसी लगाई थी और सभी के हाथ तारों से बंधे थे। पुलिस उपायुक्त ज्वॉय टिर्की के मुताबिक, 30 जून की रात करीब 10:04 बजे ललित भाटिया की पत्नी टीना और भूपेंद्र की पत्नी श्वेता खुद दुकान से जाकर स्टूल लेकर आई थीं। इसके कुछ देर बाद ही घर के दोनों बच्चे बिजली के तार लेकर आते हुए सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में दिखाई दे रहे हैं। यह वही स्टूल और तार हैं जिसे वारदात में इस्तेमाल किया गया है। उन्होंने बताया कि वारदात से कई दिनों पहले की सीसीटीवी फुटेज में ललित पॉलिथीन में सामान लेकर आता हुआ दिख रहा है। पॉलिथीन में डॉक्टर टेप और काली वस्तु दिखाई दे रही है। इससे पुलिस मानकर चल रही है कि यह वही सामान है, जिसका भाटिया परिवार ने आत्महत्या वाले दिन इस्तेमाल किया था। इतना ही नहीं, पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि ललित या परिवार का कोई ओर सदस्य कभी खुद सामान लेने नहीं जाया करते थे। अकसर घर में काम करने वाले पप्पू को ही सामान लेने के लिए भेजा जाता था। ऐसे में ललित खुद क्या और क्यों लेकर आ रहा था, इसकी जांच की जा रही है। पुलिस जांच में सामने आया है कि ललित ने पूरे परिवार के लिए बाहर से खाना ऑर्डर किया था। इसके बाद हांडी रेस्टोरेंट से युवक खाना लेकर उनके घर पहुंचा। खाना लेने के बाद ललित ने युवक को रुपये नहीं दिए। उसने युवक को रुपये लेने के लिए भूपेंद्र के पास भेज दिया। उसने ही युवक को पैसे दिए। इसके बाद ललित खाना घर में रखकर कुत्ते टॉमी के साथ बाहर निकल गया। काफी देर बाद जब गली शांत हो गई और सभी परिजन घर में चले गए तो उसके बाद ललित घर में घुसा था। इस दौरान उसने गेट बंद नहीं किया और सीधा दूसरी मंजिल पर चला गया। पुलिस की मानें तो पड़ोसियों से पूछताछ में सामने आया है कि पीड़ित परिवार का कुत्ता टॉमी बहुत ज्यादा भौंकता था। अकसर उसे रात में खुला छोड़ा जाता था, जिससे घर में किसी तरह की कोई अनहोनी न हो। मगर, वारदात वाली रात को उसे घर की दूसरी मंजिल पर बांधा गया था। ऐसे में पुलिस यह मानकर चल रही है कि घर में सबसे बाद में ललित गया था, उसके साथ टॉमी मौजूद था। यह सीसीटीवी में दिखाई दे रहा हैं। ऐसे में हो सकता है कि वह खुद टॉमी को ऊपर बांधकर आया हो ताकि वह रात को आवाज न करे और परिवार जो क्रिया कर रहा है, उसमें किसी तरह कि कोई दिक्कत न हो। पुलिस को घर से मिली डायरी की जांच से पता चला है कि ललित पर परिजन इसलिए भी विश्वास करते थे क्योंकि उसके पिता आर्मी में थे और ललित भी उनकी तरह ही घर में आर्मी रूल की बातें करने लगा था। डायरी में मिले एक नोट के मुताबिक, ललित ने लिखा है कि उसके पिता घरवालों की मनोशक्ति बढ़ाने के लिए कई कई घंटे तक सावधान अवस्था में खड़ा रखने के लिए कहते थे, ताकि किसी का ध्यान न भटके। डायरी में इस बात का भी जिक्र है कि परिवार लगातार ललित के कहने पर सावधान की अवस्था में खड़े होते थे। ऐसा इसलिए होता था क्योंकि परिवार के सदस्य मानते थे कि ललित के पिता उससे ऐसा करवा रहे हैं। पुलिस इस पूरे मामले में ललित और टीना को संदिग्ध मान रही है। पुलिस को ललित की सीडीआर से करीब आठ नंबर मिले हैं। इन नंबरों पर ललित की रोजाना बात हुआ करती थी। पुलिस ने सभी आठ लोगों की पहचान कर उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया है। पुलिस के अनुसार, इन सभी लोगों को नोटिस जारी कर दिए गए है। जल्द ही इन सभी से पूछताछ की जाएगी। इससे ललित की दिनचर्या और उसके स्वभाव के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी मिल सकेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.