FIFA 2018: किडनैपरों के चंगुल में पिता, लेकिन ‘देश सेवा’ करने पहुंचा खिलाड़ी

0
82

रूस में जारी फीफा वर्ल्ड कप की रोमांच से भरी कहानियों के बीच एक खिलाडी़ का बेहद हैरान करने वाला वाक्या सामने आया। वर्ल्ड कप में खेलने वाले नाइजीरिया के एक खिलाड़ी को मैच से पहले अपने जीवन का शायद सबसे मुश्किल फैसला लेना पड़ा, जिसकी दास्तां सुनकर सभी सकते में आ गए। फीफा वर्ल्ड कप के अपने आखिरी ग्रुप में खेलने उतरे नाइजीरिया के कप्तान को मैच से पहले अपने पिता के किडनैप होने की खबर मिली और उनके सामने अर्जेंटीना का महत्वपूर्ण मुकाबला था। नाइजीरिया टीम के कप्तान जॉन ओबी मिखेल को 26 जून को अर्जेंटीना के खिलाफ अपनी आखिरी ग्रुप मैच खेलना था। यह मैच नाइजीरिया टीम के अगले दौर में पहुंचने की किस्मत तय करने वाला था, लेकिन मैच से चंद घंटे पहले उन्हें झकझोर देने वाली एक खबर मिली। Guardian अखबार की खबर के मुताबिक मैच शुरू होने से चार घंटे पहले उन्हें एक कॉल आया जिससे उन्हें पता चला कि उनके पिता को अग्वा कर लिया गया है। चेल्सी क्लब के पूर्व खिलाड़ी मिखेल ने गार्जियन को बताया, ‘मैं अर्जेंटीना के खिलाफ खेल रहा था और मेरे पिका किडनैपरों के कब्जे में थे। मुझे इस बात का मैच शुरू के चार घंटे पहले पता लगा, लेकिन मैंने इस झटके को अलग रखते हुए मैच खेलने का फैसला किया।’जानकारी के मुताबिक किडनैपरों ने मिखेल को कॉल करने के लिए कहा था ताकि वो फिरौती की बात कर सकें। हालांकि 31 साल की खिलाड़ी ने टीम के मैनेजमेंट को इसकी कोई जानकारी नहीं दी। उन्होंने कहा, ‘मैं अंदर से पूरी तरह टूट चुका था और मुझे फैसला लेना था कि मैं मैच खेलने के लिए मानसिक रूप से तैयार हूं कि नहीं। मैं असमंजस में था। मुझे नहीं समझ आ रहा था क्या करूं, लेकिन आखिर में मैंने सोचा कि 180 मिलियन (18 करोड़) नाइजीरियाई जनता के लिए मुझे मैदान पर जाना ही होगा।’गौरतलब है कि इस मैच में नाइजीरिया, अर्जेंटीना के खिलाफ 1-1 की बराबरी के बाद, 2-1 से मैच हार गई। कप्तान मिखेल ने बताया, ‘मुझे किडनैपर्स ने कहा था जैसे ही मैं किसी को बताऊंगा वो मेरे पिता को शूट कर देंगे। मैं कोच से भी यह बात नहीं करना चाहता था क्योंकि पूरी टीम इससे डिस्टर्ब हो जाती।’ हालांकि मिखेल ने बाद में कहा, ‘मुझे खुशी है कि सोमवार (30 जून) को मेरे पिता सुरक्षित छूट गए। मैं प्रशासन और पुलिस का बेहद शुक्रगुजार हूं। ‘

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here