मिशन-2019: अमित शाह बोले, विपक्षी दलों में अकेले लड़ने का दम नहीं

0
71

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को ताजनगरी में लगभग आठ घंटे ‘मिशन-2019’ को लेकर संगठन के साथ मंथन किया। यूपी में इस बार लोकसभा की 74 सीटें जीतने और 51 फीसदी वोट प्रतिशत जुटाने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक की तरह आक्रामक तेवर अपनाने की बात कही। साथ ही केंद्र व प्रदेश सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं, तो यह कहकर र्कारूकर्ताओं में उत्साह जगाया कि विपक्षी पार्टियों में अकेले लड़ने का दम नहीं है इसलिए वह भाजपा के खिलाफ एकजुट हो रही हैं। अमित शाह ताजनगरी के निजी होटल में ब्रज, पश्चिम और कानपुर क्षेत्र की लोकसभा संचालन समिति के सदस्यों के साथ समन्वय बैठक में भाग ले रहे थे। तीनों क्षेत्रों की 39 लोकसभा सीटों पर संगठन की तैयारियों और जनता के फीडबैक की जानकारी ली। स्पष्ट किया- यूपी में इस बार भाजपा की सीटें 73 से 72 नहीं, बल्कि 74 होनी चाहिए। सावधान किया, इसके लिए आपसी मतभेद भूल जाएं। बूथस्तर पर सबकी सक्रियता दिखनी चाहिए। शाह ने एकजुट होते विपक्ष की ओर इशारा करते हुए कहा कि भाजपा का लक्ष्य 51 फीसदी वोट होना चाहिए। यदि हम इसमें सफल हो गए तो विपक्ष की चुनौती समाप्त हो जाएगी। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इस लक्ष्य के लिए बूथ स्तर का हर कार्यकर्ता मतदाता सूची के पुनरीक्षण से लेकर मतदाता सूची में नाम बढ़वाने और फर्जी वोटरों को हटवाने में जुट जाए। उन्होंने कहा कि देश की नरेंद्र मोदी और प्रदेश की योगी सरकार की उपलब्धियों के साथ कल्याणकारी योजनाओं का लाभ समाज के हर व्यक्ति तक पहुंचाने की जिम्मेदारी भी कार्यकर्ता निभाएं। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडे, डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा, राष्ट्रीय महामंत्री भूपेंद्र यादव समेत कई वरिष्ठ पदाधिकारी मौजूद रहे। ताजनगरी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विपक्षी दल हम पर जितने भी आरोप लगाते हैं, उन पर प्रबुद्धजनों की चुप्पी उचित नहीं है। प्रबुद्धजन सच को जानते हैं, इसलिए वह अपनी चुप्पी तोड़ें और विपक्ष के दुष्प्रचार का खुलकर विरोध करें। देश की नरेंद्र मोदी सरकार ने पिछले चार साल में कई उपलब्धियां हासिल करने के साथ कल्याणकारी योजनाएं लागू की हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here