खुद को बताता था शिव का अवतार, जापान ने बाबा को फांसी पर लटकाया

0
70

जापान की राजधानी टोक्यो के एक सब-वे में जानलेवा सरीन गैस हमले के दोषी बाबा शोको असहारा और उसके छह समर्थकों को शुक्रवार को फांसी पर लटका दिया गया। 63 वर्षीय असहारा खुद को शिव का अवतार बताता था और 80-90 के दशक में अंधविश्वास फैलाकर हजारों लोगों को अपना अनुयायी बना लिया था। 20 मार्च, 1995 को असहारा के समर्थकों ने टोक्यो के सब-वे में जहरीली सरीन गैस छोड़ दी थी। इसमें 13 लोगों की मौत हो गई थी और 600 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से बीमार हो गए थे। इस पंथ को लेकर हमेशा से ही देश में शंका थी, लेकिन इस हमले के बाद पंथ के मुख्यालय पर कड़ी कार्रवाई हुई। माना जा रहा है कि अपने आश्रमों को छापेमारी से बचाने और सरकार का ध्यान भटकाने के लिए उसने यह हमला करवाया था। असहारा को 2004 में मौत की सजा सुनाई गई थी, लेकिन अन्य आरोपियों के दोषी साबित होने तक उसे फांसी नहीं दी गई थी। अभी इस पंथ के कई और सदस्यों को मौत की सजा दी जानी है।
कई देशों में बढ़ाया साम्राज्य
-1980 के दशक में ‘ओम श्रीनि क्यो’ नाम से संप्रदाय बनाया
-यह संप्रदाय हिंदू और बौद्ध शिक्षाओं पर आधारित था
-1989 में धार्मिक संगठन का आधिकारिक दर्जा मिला
-जापान में हजारों समर्थक बने, जिनमें पढ़े-लिखे युवा भी शामिल थे
-डॉक्टर और वैज्ञानिक भी उसके अनुयायी बन गए
-30,000 से ज्यादा समर्थक अकेले रूस में भी थे
-2000 के करीब समर्थक अभी भी माने जाते हैं संप्रदाय के
यूं फैलाया था अंधविश्वास का जाल
-खुद को शिव का अवतार बताने वाला असहारा हिमालय में तपस्या करने का दावा करता था
-वह अपने अनुयायियों से कहता था कि बुद्ध के बाद उसे ज्ञान की प्राप्ति हुई है
-हिंदुओं को फंसाने के लिए वह खुद को शिव का अवतार बताता था
-ईसाई धर्म के लोगों को प्रभावित करने के लिए खुद को ईसा मसीह भी बताता था
मोक्ष का सपना दिखाया
-ईसाई धर्म की मान्यता के आधार पर वह लोगों में कयामत के दिन का डर दिखाता
-खुद को रखवाला दिखाते हुए अपने समर्थकों को मोक्ष दिलाने का दावा करता था
अपराध पर अंधविश्वास का पर्दा
-29 से ज्यादा लोगों की हत्या का दोषी पाया गया असहारा को अलग-अलग मामलों में
-वह कहता था कि उसके हाथों मरने वाले लोगों को ही मोक्ष की प्राप्ति होगी
-जहरीली गैस तैयार करने के लिए आश्रम में केमिकल प्लांट लगाया, अवैध हथियार भी जुटाए
-समर्थकों के विरोध के चलते सुनवाई लंबी चली
अजीबोगरीब भविष्यवाणी करता था
-जापान पर अमेरिका द्वारा परमाणु हमला करने का दावा किया
-समय में आगे जाकर भविष्य देखने का भी दावा करता था
-तीसरे विश्व युद्ध को लेकर भी भविष्यवाणी की
बेहद गरीब परिवार में संबंध
-असहारा बेहद गरीब परिवार में जन्मा था
-सात बहन-भाइयों के परिवार में खाने को भी पूरा नहीं होता था
-शोको असहारा को एक आंख से ही आंशिक रूप से दिखता था
-उसे अवैध दवा बेचने के आरोप में गिरफ्तार भी किया गया था
-बाद में उसने योग की शिक्षा देना शुरू कर दिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here