Eng vs Ind कप्तान विराट कोहली ने जीत का श्रेय रोहित शर्मा को नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को दिया

0
44

तीन मैचों की टी20 सीरीज का आखिरी मैच जीतकर भारत ने सीरीज 2-1 अपने नाम कर लिया। ब्रिस्टल में रविवार को खेले गए मैच में भारत ने सात विकेट से जीत दर्ज की। रोहित शर्मा को शानदार सेंचुरी जड़ने के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। वहीं कप्तान विराट कोहली ने रोहित की पारी को तो खास बताया लेकिन हार्दिक पांड्या को जीत का हीरो बताया। विराट ने जीत का श्रेय गेंदबाजों को दिया, जिन्होंने मैच में वापसी कराई थी। इंग्लैंड ने तूफानी शुरुआत करके दस ओवर में दो विकेट 112 रन बनाए थे लेकिन आखिर में उसकी टीम नौ विकेट पर 198 रन ही बना पाई। हार्दिक पांड्या ने 38 रन देकर चार विकेट लिए। रोहित शर्मा के नॉटआउट 100 रन से भारत ने आठ गेंद शेष रहते ही जीत हासिल की। कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘मेरा मानना है कि गेंदबाजों ने जिस तरह से वापसी की वो बेजोड़ थी। हमें लग रहा था कि वे 225 से 230 रन बनाएंगे। गेंदबाजों ने जो जज्बा दिखाया उस पर वास्तव में हमें गर्व है। एक कप्तान के रूप में इसे देखकर बहुत खुशी होती है। हमारे पास विकेट लेने वाली गेंदें करने की क्षमता है। इस फॉरमैट में 25 से 30 रन बहुत अंतर पैदा कर सकते हैं। हमने दबाव बनाया और मैच में वापसी की।’विराट ने रोहित के साथ-साथ पांड्या की भी जमकर तारीफ की। पांड्या ने बाद में नॉटआउट 33 रनों की पारी भी खेली। कोहली ने कहा, ‘पांड्या ने वास्तव में अच्छा ऑलराउंड क्रिकेटर है। वो आत्मविश्वास से भरा है और जिस तरह से उसने विकेट लिए आप युवा खिलाड़ी से ऐसा ही प्रदर्शन चाहते हो। इसके बाद उसने बल्ले से भी कमाल दिखाया। रोहित की पारी खास थी लेकिन हार्दिक का प्रदर्शन लाजवाब था। उन्होंने कहा, ‘पिच वास्तव में सपाट थी और बल्लेबाज के रूप में हमने इसका लुत्फ उठाया। हम बल्लेबाजी क्रम और गेंदबाजों में अलग-अलग चीजें आजमाते रहेंगे। सीरीज में जीत से दौरे की शुरुआत करना अच्छा है।’इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन ने निराशा जताई कि उनकी टीम अच्छी शुरुआत का फायदा उठाने में नाकाम रही और वो 20 या 30 रन अधिक बना सकती थी। मोर्गन ने कहा, ‘रॉय और बटलर ने हमें बेहतरीन शुरुआत दिलाई लेकिन उन्होंने जो मंच तैयार किया था हम उसके साथ न्याय नहीं कर पाए। हमने 20 से 30 रन कम बनाए। हम बाद में अच्छी तरह से शॉट नहीं लगा पाए। हम छोटे मैदान पर इससे अधिक स्कोर की उम्मीद कर रहे थे। उम्मीद है इससे हम सबक लेंगे और सुधार करेंगे।’ रोहित शर्मा को मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज चुना गया। उन्होंने कहा कि परिस्थितियों का अनुमान लगाना महत्वपूर्ण था। भारतीय उप-कप्तान ने कहा, ‘ये खेल की मेरी शैली है। पारी के शुरू में परिस्थितियों का आकलन करना महत्वपूर्ण था। हमें पता था कि विकेट बल्लेबाजी के लिए अच्छा है और बाउंड्री छोटी है। मैं शांतचित होकर खेलना चाहता था। मैं जानता था कि क्रीज पर टिके रहने से आप बाद में रन बना सकते हो।’उन्होंने कहा, ‘चार फील्डरों के तीस गज की रेखा के अंदर होने के कारण आपके पास मौका होता है और पांड्या ने पिछले कुछ सालों से इसका ऐसा ही फायदा उठाता है। उसने जिस तरह से गेंदबाजी की उससे उसका आत्मविश्वास बढ़ा था। टीम उससे यही चाहती थी।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here