बजरंगी मर्डरः मौके से मिले डेढ़ दर्जन कारतूस के खोखे, गटर से मिला पिस्टल

0
41

बजरंगी की हत्या के बाद बताया जाता है कि मौके पर पुलिस को करीब डेढ़ दर्जन कारतूस के खोखे पड़े मिले हैं, जो पिस्टल के हैं। वहां किसी भी प्रकार की खींचतान का कोई निशान नहीं मिला है, जबकि खून कई मीटर के दायरे में फैला हुआ था। पुलिस ने वहां से खूनसनी मिट्टी, स्टूल, चाय के कप व अन्य सामान अपनी कस्टडी में ले लिया है। मुन्ना बजरंगी का पोस्टमार्टम डॉक्टरों के पैनल से कराया गया है। इस दौरान वीडियोग्राफी भी कराई गई। बताया गया कि पोस्टमार्टम में मुन्ना बजरंगी के शरीर पर गोली लगने के नौ घाव पाए गए हैं, जबकि शरीर के अन्दर कोई बुलेट नहीं पाई गई है। एक्सरे में एक गोली बजरंगी के सीने में पाई गई है, पुलिस से एन्काउंटर के दौरान कई साल पहले उसे लगी थी। कोर्ट में दाखिल मेडिकल रिपोर्ट में भी उसके वकील मुन्ना बजरंगी के शरीर में गोली होने का दावा कर चुके हैं। बताया जाता है कि सीएमओ ने पोस्टमार्टम से जुड़ी अपनी रिर्पोट शासन को भेज दी है। खेकड़ा। जिला जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या से पुलिस भी खौफ में दिखी। उसने गैंगवार की शंका के चलते जिला जेल में ही अदालत लगवाई। पुलिस सोमवार की शाम आरोपी के रिमांड पर सुनवाई के लिए न्यायाधीश को जेल में ले गई। सुनवाई के बाद न्यायाधीश ने आरोपी सुनील राठी का पुलिस रिमांड स्वीकृत किया। रिमांड कितनी अवधि का स्वीकृत किया गया है, इसकी अभी तक आधिकारिक जानकारी नहीं मिल पाई है। बागपत जिला जेल में सोमवार को दिन निकलते ही पूर्वांचल के माफिया डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई। बजरंगी को सिर समेत पूरे शरीर पर करीब दस गोली मारी गई। पुलिस ने अनुसार कुख्यात बदमाश सुनील राठी और उसके साथियों ने बजरंगी की हत्या की है। मुन्ना की पत्नी और उसके वकील ने इसे गहरी साजिश बताया है। उसके परिवार ने तीन दिन पहले ही उसकी हत्या की आशंका जताई थी। मुन्ना बजरंगी रविवार देर शाम झांसी जेल से बागपत जिला जेल में लाया गया था और सोमवार को उसकी बागपत कोर्ट में पेशी होनी थी। जेल में बजरंगी की हत्या से बागपत से लेकर लखनऊ तक में हड़कंप मचा हुआ है। उधर, मौके पर पहुंचे डीएम, एसपी और डीआईजी जेल ने घटना स्थल का निरीक्षण किया तथा जेल प्रशासन व बंदियों से पूछताछ की। मुन्ना बजरंगी की हत्या में जेलर द्वारा नामजद किये गए कुख्यात बदमाश सुनील राठी ने पूछताछ में अफसरों को बताया कि उसने आत्मरक्षा में मुन्ना बजरंगी से पिस्तौल छीनकर उस पर गोली चलाई। बताया गया कि सबसे पहले सुनील राठी को ही जेलर के कक्ष में बुलाकर अधिकारियों ने पूछताछ की। सुनील राठी ने बताया कि सुबह के वक्त हम कई लोग बाहर बैठकर चाय पी रहे थे। तभी वहां मुन्ना बजरंगी आ गया। मैने उसे चाय ऑफर की तो वह भड़क गया और चाय में जहर देकर मारने का आरोप लगाते हुए गाली-गलौज करने लगा। मैंने विरोध किया तो उसने मुझ पर पिस्टल तान दी। इसके बाद मैंने उससे पिस्टल छीनकर आत्मरक्षा में उसे गोलियों से भून दिया। हालांकि कोई भी अधिकारी सुनील राठी के इस बयान की पुष्टि नहीं कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here